West Champaran: सरकारी फोन रिसीव नहीं करने वाले थानाध्यक्ष सावधान, अब होगी कार्रवाई

Paschim Champaran News सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आलोक में पुलिस मुख्यालय ने जारी किया आदेशटावर के अभाव में अधिकतर सरकारी मोबाइल बताता स्वीच आफ न‍ियम का पालन नहीं करने होंगे कार्रवाई की जद में ।

Dharmendra Kumar SinghSat, 04 Dec 2021 04:51 PM (IST)
पश्‍च‍िम चंपारण के कुछ इलाकों में बीएसएनएल का नेटवर्क कमजोर है। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

पश्‍च‍िम चंपारण (बगहा), जासं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर पुलिस मुख्यालय के द्वारा सूबे के सभी एसपी को आदेश दिया गया है कि सरकारी फोन पर आने वाले सभी कॉल को रिसीव करना है और उस पर मिलने वाली जानकारी के आलोक में आगे की कार्रवाई करना है । साथ ही वाट्सएप पर मिलने वाली सूचना को भी गंभीरता से लेना है । कोर्ट व पुलिस मुख्यालय से मिले आदेश के आलोक में एसपी ने पुलिस जिले के सभी थानाध्यक्षों को सख्त हिदायत देते हुए फोन को रिसीव करने का आदेश दिया है । साथ ही यह भी कहा गया गया है कि अगर किसी के द्वारा उनसे शिकायत की जाती है तो संबंधित पुलिस पदाधिकारी के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी । सुप्रीम कोर्ट में शिकायत की गई थी कि पुलिस विभाग में जो भी सरकारी नंबर हैं। उस फोन करने के बाद कोई जवाब नहीं दिया जाता है। जिसके बाद कोर्ट ने उक्त आदेश जारी किया है।

सभी थानों पर बीएसएनएल का सिम

यहां बता दें कि सभी थानों में बीएसएनएल का सिम उपलब्ध कराया गया है । बगहा पुलिस जिले के गोबरहिया, बथवरिया, भितहा, महिला व एसी,एसटी व ठकराहा थाने में सरकारी नंबर भी नहीं है । जबकि अन्य थानों बीएसएनएल का नंबर है । अधिकतर थाने के नंबर में टावर ही गायब रहता है । जबकि आम लोगों के पास जो बीएसएनएल का सिम है उसमें टावर रहता है। जब भी किसी के द्वारा सरकारी नंबर पर फोन किया जाता है तो फोन बंद होने का संकेत मिलता है । थानाध्यक्षों का कहना है कि उनका मोबाइल हमेशा खुला रहता टावर के अभाव में मोबाइल स्वीच ऑफ बताता है । पश्‍च‍िम चंपारण के कुछ इलाकों में नेटवर्क  की गंभीर समस्‍या है। एसपी किरण कुमार गोरख जाधव ने बताया कि सभी पुलिस पदाधिकारियों को फोन रिसीव कर जवाब देने का आदेश दिया गया है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.