शहर में भू-जलस्तर गिरा, पानी के लिए मचा हाहाकार, चापाकलों ने भी छोड़ा साथ

मुजफ्फरपुर, जेएनएन। जिले में भू-जलस्तर में तेजी से गिरावट हो रही है। शहरी क्षेत्र का जलस्तर गिरकर 35 फीट तक पहुंच गया है। सामान्य स्थिति में जलस्तर 25 फीट पर होता है। सबसे खराब स्थिति चंदवारा, बालूघाट, सिकंदरपुर, अखाड़ाघाट और दादर आदि मोहल्लों में है। बेला व पंखाटोली में भी जलस्तर गिरा है। जिस अनुपात में गिरावट हो रही है, उसके हिसाब से मई-जून में जलस्तर 42 से 44 फीट तक पहुंच जाएगा। इसके कारण पेयजल संकट की स्थिति उत्पन्न होने लगी है। चापाकलों एवं लोगों के घरों में लगे निजी पंप पानी खींचने में हांफने लगे हैं।

   यदि समय रहते उपाय नहीं किए गए तो शहरवासियों को गंभीर पेयजल संकट का सामना करना पड़ेगा। कन्हौली में भी भू-जलस्तर काफी नीचे चला गया है। बिहार खादी ग्राम उद्योग संघ परिसर में लगे चापाकल से पानी नहीं निकल रहा है। संघ के अध्यक्ष रामचंद्र चौधरी ने कहा कि पेयजल को लेकर काफी परेशानी हो रही है। चापाकल से पानी नहीं निकल रहा है। पीने के पानी के लिए हाहाकार मचा है। कोल्हुआ पैगम्बरपुर के हजरत अली नगर कॉलोनी में भी भू-जल स्तर काफी नीचे चला गया है। शिक्षक इरफान आलम कहते हैं कि काफी मुश्किल से पानी मिल पा रहा है। लोगों को काफी परेशानी हो रही है।

निगम के नल पर लंबी कतार, मारामारी की नौबत

शहर में नगर निगम के सार्वजनिक नल पर पेयजल के लिए लंबी कतार लग रही है। पानी आने से पहले पहुंच कर लोग अपनी बाल्टी कतार में लगा रहे हैं। इस दौरान लोगों के बीच तकरार भी हो जाती है। दाता कंबल शाह मजार, पक्की सराय, तीन कोठिया, इमामगंज, सादपुरा, मिठनपुरा समेत अनेक जगहों पर निगम के नल पर कतार लग रही है। पानी के लिए परेशान लोग यहां समय से पूर्व पहुंच रहे हैं।

शहरवासी पेयजल को परेशान, चुनाव बाद लगेंगे चापाकल

गर्मी बढऩे एवं भू जलस्तर गिरने से शहरवासी पेयजल के लिए परेशान है। इधर, नगर निगम द्वारा सभी वार्डों में लगाए जाने वाला दो-दो चापाकल से फिलहाल शहवासियों को लाभ नहीं मिलने वाला। आदर्श आचार संहिता की वजह से चापाकल चुनाव के बाद ही लगाए जाएंगे। ऐसे निगम ने इसके लिए टेंडर की प्रक्रिया भी पूरी कर ली है। चुनाव की प्रक्रिया मई के अंत में पूरी होगी। तब तक आधी गर्मी बीत चुकी होगी। ऐसे में चापाकल का लाभ शहरवासियों को नहीं मिल पाएगा।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.