महापौर सुरेश कुमार के भाग्य का फैसला 24 को

महापौर सुरेश कुमार के भाग्य का फैसला 24 जुलाई को होगा।

JagranTue, 20 Jul 2021 01:36 AM (IST)
महापौर सुरेश कुमार के भाग्य का फैसला 24 को

मुजफ्फरपुर : महापौर सुरेश कुमार के भाग्य का फैसला 24 जुलाई को होगा। महापौर द्वारा अपने खिलाफ तय समय में बोर्ड की विशेष बैठक नहीं बुलाए जाने पर अविश्वास प्रस्ताव लाने वाले पार्षदों ने सोमवार को बैठक की तिथि तय कर नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय को पत्र सौंप दिया है। पार्षदों ने अपने पत्र में 24 जुलाई को प्रात : 11 बजे नगर निगम आडिटोरियम में बोर्ड की विशेष बैठक बुलाने को कहा है। बिहार नगरपालिका अधिनियम के तहत महापौर को अविश्वास प्रस्ताव का पत्र मिलने के एक सप्ताह के अंदर विशेष बैठक बुलानी थी। रविवार इसकी समय सीमा खत्म हो गई। डेढ़ दर्जन पार्षदों ने उनके खिलाफ 12 जुलाई को अविश्वास प्रस्ताव का पत्र सौंपा था। उम्मीद है कि मंगलवार को नगर आयुक्त बैठक की सूचना जारी करेंगे।

दूसरी और 23 जुलाई को उपमहापौर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के लिए बोर्ड की बैठक आयोजित करने हेतु नगर आयुक्त ने नोटिस जारी कर दिया है। बैठक नगर निगम आडिटोरियम में प्रात : 10 बजे से रखी गई है। महापौर समर्थक डेढ़ दर्जन पार्षदों ने भी 12 जुलाई को ही उपमहापौर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का पत्र सौंपा था। तब महापौर ने अपने खिलाफ लाए गए प्रस्ताव पर चर्चा के लिए तिथि तय नहीं की थी लेकिन उपमहापौर के खिलाफ 23 जुलाई को बैठक बुलाने का आदेश नगर आयुक्त को दिया था। नगर आयुक्त ने 23 जुलाई को होने वाली बैठक को लेकर तैयारी शुरू कर दी है। बैठक के दौरान विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुरक्षा व्यवस्था को वरीय पुलिस अधिकारी को पत्र लिखा है। कहा है कि किसी भी पार्षद को बैठक के दौरान मोबाइल या अन्य इलेक्ट्रानिक सामान ले जाने की अनुमति नहीं होगी।

------------------------

बैठक बुलाने के लिए इन पार्षदों ने किया है हस्ताक्षर

महापौर के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव लाने एवं अब बैठक के लिए नगर आयुक्त को सौंपे गए पत्र पर डेढ़ दर्जन पार्षदों के हस्ताक्षर हैं। इनमें वार्ड तीन के पार्षद राकेश कुमार, वार्ड दो की पार्षद गायत्री चौधरी, वार्ड पांच की पार्षद सीमा कुमारी, वार्ड सात की पार्षद सुषमा कुमारी, वार्ड 23 के पार्षद राकेश कुमार सिन्हा, वार्ड 10 के पार्षद अभिमन्यु कुमार, वार्ड 17 के पार्षद विकास कुमार, वार्ड 28 के पार्षद राजीव कुमार पंकू, वार्ड 45 के पार्षद शिव शंकर महतो, वार्ड 48 के पार्षद मो. हसन, वार्ड 47 की पार्षद गीता देवी, वार्ड 36 की पार्षद प्रियंका शर्मा, वार्ड 31 की पार्षद रूपम कुमारी, वार्ड 30 की पार्षद सुरभि शिखा, वार्ड 25 के पार्षद संतोष महाराज, वार्ड 29 की पार्षद रंजू सिन्हा, वार्ड 38 की पार्षद शबाना परवीन एवं वार्ड नौ के पार्षद एनामुल हक शामिल हैं।

-------------------------

इनसेट

अज्ञातवास पर नहीं जाएंगे वार्ड पार्षद

मुजफ्फरपुर : हर बार की तरह अविश्वास महापौर-उपमहापौर चुनाव एवं अविश्वास प्रस्ताव पर बैठक से पूर्व वार्ड पार्षद अज्ञातवास पर नहीं जाएंगे। दो साल पूर्व महापौर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आने पर दोनों खेमा ने समर्थक पार्षदों को अज्ञातवास पर भेज दिया था। अगले साल निकाय चुनाव होना है। जनता में गलत संदेश न जाए इसलिए पार्षद अज्ञातवास पर जाने को तैयार नहीं हैं। हालांकि इस बार कोई भी खेमा इस पर जोर नहीं दे रहा है। अंदरखाने से जो सूचना आ रही है उसके अनुसार विशेष बैठक से 24 घंटे पूर्व दोनों खेमा के पार्षद एक साथ रह सकते हैं। इसकी तैयारी चल रही है। एक पार्षद ने बताया कि पार्षदों को बैठक से पूर्व एक साथ रखने की कवायद चल रही है। 22 जुलाई से दोनों खेमा के पार्षद अपने कैंप में एक साथ रह सकते हैं।

-----------------------

पार्षदों को पक्ष में करने के लिए चला चूहे-बिल्ली का खेल

सोमवार को पार्षदों को अपने पक्ष में करने के लिए दोनों खेमा ने जमकर पसीना बहाया। पार्षद के घर से एक खेमा के लोगों के जाते ही दूसरा खेमा पहुंचता रहा। इस प्रकार पूरे दिन चूहे-बिल्ली का खेल होते रहा। दूसरी ओर शहर की राजनीति के किंगमेकर भले ही ऊपर से सक्रिय नहीं हों, लेकिन पर्दे के पीछे लगातार शह मात खेल रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.