मुजफ्फरपुर में राजस्व कर्मचारी के ठिकानों पर विजिलेंस की छापेमारी, आय से अधिक संपत्ति का मामला

राजस्व कर्मचारी के चैनपुर स्थित घर पर तैनात पुलिसकर्मी

Vigilance raids on the bases of Revenue Employee कांटी अंचल के राजस्व कर्मचारी अशोक कुमार सिंह के ठिकानों पर विजिलेंस की छापेमारी हो रही है। यह छापेमारी उक्त कर्मचारी के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति को लेकर हो रही है।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 03:54 PM (IST) Author: Murari Kumar

मुजफ्फरपुर, जेएनएन। कांटी अंचल के राजस्व कर्मचारी अशोक कुमार सिंह के ठिकानों पर विजिलेंस की छापेमारी हो रही है। यह छापेमारी उक्त कर्मचारी के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति को लेकर हो रही है। विजिलेंस की टीम ने कांटी स्थित अंचल कार्यालय व हलका कार्यालय में अभिलेखों की जांच की। इसके बाद कर्मचारी के घर पर छापेमारी शुरू की। पटना से पहुंचे विजिलेंस के डीएसपी के नेतृत्व में कांटी थाना अंतर्गत चैनपुर मोहल्ला स्थित कर्मचारी के घर पर टीम जांच कर रही है। इसके अलावा पारू के बभनगामा स्थित पैतृक घर पर भी टीम की जांच हो रही है।

 मालूम हो कि राजस्व कर्मचारी अशोक कुमार सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति की शिकायत की गई थी। इसके बाद यह कार्रवाई की जा रही है। इससे पहले भी उक्त कर्मचारी को कार्य में लापरवाही को लेकर निलंबित किया जा चुका है। इस मामले में कांटी के अंचलाधिकारी शिव शंकर गुप्ता ने बताया कि हलका छह के कर्मचारी के खिलाफ आवेदन दिया गया था। इसके बाद यह कार्रवाई हुई है। मगर, कार्यालयों में की गई छापेमारी में अब तक कोई आपत्तिजनक दस्तावेज नहीं मिला है। कार्यालयों से जांच के बाद विजिलेंस की टीम चली गई है। वहीं आवास पर छापेमारी जारी है। इसके समाप्त होने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

जिले के कई कर्मचारी निशाने पर

आय से अधिक संपत्ति के मामले में जिले के कई राजस्व कर्मचारी निशाने पर हैं। इसमें मुशहरी के कई कर्मचारी शामिल हैं। पिछले कुछ वर्षों से जमीन संबंधित विवाद बढ़ने के कारण हलका कार्यालयों में दाखिल-खारिज को लेकर भीड़ बढ़ने से इन कर्मचारियों ने मनमाना कमाई की। इस तरह की शिकायतें लगातार आती रही हैं। शहर से सटे अंचलों में ऐसे मामले अधिक हैं। यही कारण है कि कांटी व मुशहरी अंचलों के राजस्व कर्मचारियों के खिलाफ अधिक शिकायतें हैं। मुशहरी के हलका कार्यालय में इसे लेकर छापेमारी भी हुई थी। वहीं दाखिल-खारिज के अवैध मामले भी पकड़ में आए थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.