सीतामढ़ी में सड़क से बाढ़ का पानी खत्म होने के बाद भी आवागमन मुश्किल

डीएम के निर्देश पर एक सप्ताह के अंदर सड़कों पर ईंट के टुकड़ों से भराई करके आवागमन लायक बनाया गया। जैसे- जैसे सड़कों पर जमा पानी सूखता गया वैसे- वैसे सड़कों पर बिछाये गए ईंट उभरने लगे जो काफी खतरनाक हो चुके हैं।

Ajit KumarWed, 15 Sep 2021 11:47 AM (IST)
आवागमन लायक बनाने के लिए गिराए गए ईंट के टुकड़े हो चुके हैं खतरनाक। फोटो- जागरण

सीतामढ़ी, जासं। पिछले महीने में हुई जोरदार बारिश और बाढ़ से सोनबरसा प्रखंड की कई सड़कें ध्वस्त हो चुकी है। जिससे सड़कों पर से बाढ़ का पानी खत्म होने के बाद भी आवागमन के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। बाढ़ के दौरान ही विधायक गायत्री देवी व पूर्व विधायक रामनरेश यादव की पहल पर डीएम सुनील कुमार यादव अधिकारियों के साथ सोनबरसा व कन्हौली में सड़कों का जायजा लिया था। डीएम के निर्देश पर एक सप्ताह के अंदर सड़कों पर ईंट के टुकड़ों से भराई करके आवागमन लायक बनाया गया। जैसे- जैसे सड़कों पर जमा पानी सूखता गया, वैसे- वैसे सड़कों पर बिछाये गए ईंट उभरने लगे, जो काफी खतरनाक हो चुका है। इन सड़कों पर पैदल चलने में भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं वाहनों के परिचालन में भी काफी परेशानी हो रही है। दो पहिया वाहन चालकों के लिए दुर्घटना का सबब बना हुआ है। अक्सर दो पहिया वाहन सवार अनियंत्रित होकर गिर जाते है। ऐसे में सड़कों पर चलने के दौरान वाहन चालक सावधानी के साथ साथ हनुमान चालीसा का पाठ करते नजर आते हैं । 

सोनबरसा- लालबन्दी, चक्की, राजवाड़ा, पकड़िया- मुजौलिया, दलकावा नरकटिया जैसे सड़कों के कई स्थानों पर घटिया ईंट की टुकड़ी का प्रयोग किया गया जिससे ईंट के टुकड़े टूटकर कीचड़ में तब्दील हो चुके हैं। दूसरी ओर कन्हौली, मड़पा , कचोर फतहपुर की सड़कें का हाल भी कुछ ऐसा ही है । जहां लोगों इस समस्या से हर दिन जूझना पड़ रहा है । कन्हौली पंचायत भवन से महारानी स्थान , रामवीर महतो के घर से धरेशसर मंडल तक , बेताही महारानी स्थान से ब्रह्मस्थान तक सरबर पुर से फतहपुर अररिया गांव से लेकर मेन सड़क तक की सड़क की स्थिति काफी दयनीय हो चुकी है । ईंट की टुकड़ी की भराई तो हुई लेकिन उन सड़कों पर राबिस या फिर रोलर नहीं चलाई गई है। जिससे उबड़ खाबड़ सड़को पर आम लोगों को चलने में परेशानी हो रही है। खाप खोपराहा पंचायत के पूर्व मुखिया जागेश्वर महतो ने डीएम से आग्रह किया है कि इन सड़कों की पुन: मरम्मत कराया जाए। जिससे आम लोगों को इस समस्या से निदान मिल सके। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.