सीतामढ़ी के सुरसंड में सीएसपी संचाक से बदमाशों ने गर्दन पर रिवाल्वर सटाकर पौने चार लाख लूटे

सीतामढ़ी ज‍िले में बेखौफ बदलाव में लूटपाट की घटना के अंजाम देकर फरार हो गए। म‍िली जानकारी के अनुसार सीएसपी संचालक से करीब पौने चार लाख रुपये की लूट हुई है। पुल‍िस अब मामले की जांच पड़ताल कर रही है।

Dharmendra Kumar SinghPublish:Wed, 24 Nov 2021 07:14 PM (IST) Updated:Wed, 24 Nov 2021 07:29 PM (IST)
सीतामढ़ी के सुरसंड में सीएसपी संचाक से बदमाशों ने गर्दन पर रिवाल्वर सटाकर पौने चार लाख लूटे
सीतामढ़ी के सुरसंड में सीएसपी संचाक से बदमाशों ने गर्दन पर रिवाल्वर सटाकर पौने चार लाख लूटे

सीतामढ़ी, जासं। जिले के रीगा व सुप्पी प्रखंड में पंचाचत चुनाव के ऐन मौके पर सुरसंड थाना क्षेत्र के बघारी व भुतहा सड़क पर बुधवार शाम भीषण लूटपाट हुई। सीएसपी संचालक से हथियार के बल 3 लाख 77 हजार रुपए और उनका मोबाइल लूट लिए। तीन अपराधियों ने घटना काे अंजाम दिया। पुलिस छानबीन में जुट गई है। पुलिस के अनुसार, बघारी व भुतहा सड़क पर लगभग सवा चार बजे यह वारदात हुई। बघारी गांव से निकलते ही पुल के निकट ब्लू रंग की अपाची बाइक पर सवार तीन अपराधियों ने सीएसपी संचालक मो. जावेदअंसारी उर्फ मुन्ना को आगे से धक्का मारा। उनकी गर्दन पर रिवाल्वर सटाकर रुपये व मोबाइल लूो। इसके बाद लुटेरे हनुमान चौक की ओर भाग निकले। मुन्ना सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के ग्राहक सेवा केंद्र चलाते हैं। सीएसपी संचालक ने शोर मचाया तो लोगों का हुजूम पहुंचा। सूचना मिलने पर दिवारी मतौना के पूर्व मुखिया मो. ताजमुद्दीन अंसारी पहुंचे। उन्होंने सुरसंड थाना पुलिस को इत्तला किया। सीएसपी संचालक के अपने चाचा हैं पूर्व मुखिया। सीएसपी संचालक ने बताया कि बघारी गांव के निकट पुल के पास नकाबपोश तीन लुटेरों ने लूटपाट की। उन्होंने बताया कि सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया शाखा से तीन लाख 77 हजार रुपए निकासी करके घर लौट रहे थे। भुतहा की ओर से ब्लू रंग की पल्सर बाइक से लुटेरों ने घेर लिया। थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर नवलेश कुमार आजाद, अवर निरीक्षक मनोज कुमार सिंह मौके पर पहुंचे। नाकेबंदी कराई। मगर, कहीं कोई सुराग नहीं लग सका।

बघारी व भुतहा सड़क पर सवा चार बजे बाइक से चाबी निकाली । गर्दन पर रिवाल्बर तानी व लूटकर हुए फरार-रीगा व सुप्पी में पंचायत चुनाव के ऐन मौके पर लूट की घटना से सनसनी । सीतामढ़ी के सुरसंड में पंचायत चुनाव के बीच हुई लूटपाट की घटना। पुल‍िस के ल‍िए चुनौती बनी आपरधि‍क घटनाओं को रोकना। लूट पाठ की घटना के बाद जांच पड़ताल शुरू।