top menutop menutop menu

शव उठाने गई पुलिस को बनाया बंधक

मुजफ्फरपुर। थाना क्षेत्र के ताराजीवर मन में शुक्रवार की सुबह युवक का शव उपलाते देख गांव में सनसनी फैल गई। शव को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। ग्रामीणों ने मृतक की पहचान ताराजीवर गाव के बिंदा सहनी के 40 वर्षीय पुत्र सुशील सहनी के रूप में की। स्वजनों ने शव को पानी से बाहर निकाला तो मृतक का दोनों पैर बंधा था। वहीं, शरीर पर जख्म के निशान थे। स्वजनों ने बताया कि सुशील शहर में रिक्शा चलाता था। गुरुवार को शहर गया तो रात में नहीं लौटा। स्वजनों ने समझा कि शहर में ही रह गया होगा। इधर, सुबह में उसका शव मिलने की खबर मिली। सूचना पर पहुंची हथौड़ी पुलिस शव को पोस्टमार्टम हेतु भेजने लगी तो स्वजनों व सगे-संबंधी पुलिस को घेर हत्यारोपित की गिरफ्तारी की माग करने लगे। पुलिस ने मृतक की पत्‍‌नी अंजू देवी की शिकायत पर नरमा पश्चिमी निवासी रामबाबू सिंह एवं उसके पुत्र राजन कुमार हिरासत में ले लिया। आरोपित को हिरासत में लेने के बाद मृतक के स्वजनों ने पुलिस टीम को बंधक बना लिया। उनकी माग थी कि हत्यारोपित को ग्रामीणों के हवाले किया जाए। परमजीवर ताराजीवर पंचायत के मुखिया पति टुल्लू सिंह व सरपंच पति जितेंद्र कुमार ने लोगों को समझाकर शात किया। चार घटे की मशक्कत के बाद शव को पोस्टमार्टम हेतु भेजा गया। वहीं, मौके पर बोचहा थानाध्यक्ष राजेश कुमार सदलबल पहुंच स्थिति को नियंत्रित किया। प्रभारी थानाध्यक्ष हथौड़ी उमाकात सिंह ने बताया कि घटनास्थल पर पुलिस टीम ने शव को पोस्टमार्टम भेजने हेतु कब्जे में लिया तो मृतक के स्वजनों ने हत्यारोपित को अपने कब्जे में लेना चाहा। मना करने पर पुलिस गाड़ी को घेर लिया। स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं अन्य थाने की पुलिस के पहुंचने पर भीड़ शात हुई।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.