सरकारी जमीन को बेचने की कोशिश में था बिचौलिया, ग्रामीणों के पहुंचने के बाद भागा

सरकारी जमीन बिक्री की सूचना पर एकजुट हुए ग्रामीण। जागरण

West champaran जमीन खरीद- बिक्री में विवाद तो आम बात है। लेकिन पश्चिम चंपारण एक अलग ही मामला सामने आया है। यहांं एक व्यक्ति सरकारी जमीन ही बेचने पहुंच गया। सरकारी जमीन पर छठ घाट बनाने की मांग कर रहे हैं ग्रामीण

Dharmendra Kumar SinghThu, 25 Feb 2021 05:35 PM (IST)

पश्चिम चंपारण (पिपरासी), जासं । प्रखंड के मंझरिया पंचायती स्थित कतकी  में सरकारी जमीन को बिचौलिया द्वारा बेचने की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंचे और विरोध किया। इस दौरान मौका पाकर बिचौलिया फरार हो गया। फूलन देवी जन-जागरण सेना के जिला अध्यक्ष सुनील साहनी, कृष्णा गिरी, ङ्क्षपटू गुप्ता, प्रमोद प्रसाद आदि ने बताया बिचौलिया करीब दो  क_ा सरकारी जमीन बेचने की फिराक में था। जबकि यहां के ग्रामीण उक्त जमीन को छठ घाट निर्माण कराने के लिए अपनी मांग पर अड़े हैं । इस संदर्भ में ग्रामीणों ने 18 फरवरी को एसडीएम, जिला पदाधिकारी ,अंचला अधिकारी को आवेदन दिया था। 

बंदोबस्ती की जमीन की हुई बिक्री, दाखिल खारिज भी 

बगहा । सरकार की ओर से दी गई जमीन की न सिर्फ खरीद बिक्री हुई। बल्कि दाखिल खारिज भी कर दिया गया।  इस मामले को लेकर कांग्रेस के तिरहुत जोन महासचिव फिरोज अंसारी ने डीएम को आवेदन देकर जांच की मांग की है। आवेदन में श्री अंसारी ने विभागीय मिलीभगत से बंदोबस्ती की भूमि बिक्री के बाद दाखिल खारिज करने वाले पूर्व सीओ राजकिशोर साह, राजस्व कर्मचारी बलराम प्रसाद आदि पर कार्रवाई करने की मांग की है। विदित हो कि बंदोबस्ती या पट्टा का जमीन की खरीद बिक्री करना कानूनन सही नहीं है। श्री अंसारी ने आवेदन के साथ ही पूरा विवरण भी संलग्न किया है।  इस मामले में  सात लोगों द्वारा खरीद बिक्री करने का पूरा कागजात भी संलग्न है। जांच हो तो दर्जनों मामले उजागर हो सकते हैं। मामले में सीओ उदयशंकर मिश्र ने बताया कि जांच की जा रही है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.