Madhubani News: निर्माण कार्य की धीमी गति देख जल संसाधन मंत्री ने जताई नाराजगी, जान‍िए पूरा मामला

Madhubani News जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने पश्चिमी कोशी नहर परियोजना अंतर्गत परमानपुर उप वितरणी पर एक पथीय सेतु के निर्माण कार्य का किया निरीक्षण संवेदक को मंत्री ने लगाई फटकार इस माह के अंत तक निर्माण कार्य की प्रगति संबंधी विस्तृत रिपोर्ट तलब।

Dharmendra Kumar SinghPublish:Wed, 24 Nov 2021 08:08 PM (IST) Updated:Wed, 24 Nov 2021 08:08 PM (IST)
Madhubani News: निर्माण कार्य की धीमी गति देख जल संसाधन मंत्री ने जताई नाराजगी, जान‍िए पूरा मामला
Madhubani News: निर्माण कार्य की धीमी गति देख जल संसाधन मंत्री ने जताई नाराजगी, जान‍िए पूरा मामला

मधुबनी, जासं। सूबे के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने पश्चिमी कोशी नहर परियोजना अंतर्गत परमानपुर उप वितरणी (ताजपुर गांव के समीप) पर निर्माणाधीन एक पथीय सेतु का निरीक्षण बुधवार को किया। निरीक्षण के दौरान मंत्री ने कहा कि इस निर्माण कार्य के पूर्ण हो जाने से ताजपुर, अलपुरा एवं सपहा गांवों में जहां किसानों को खेती करने में बहुत सहायता प्राप्त होगी। वहीं, इस क्षेत्र के लोगों को आवाजाही में भी काफी सुविधा मिलेगी।

मंत्री संजय कुमार झा ने इस निर्माण कार्य का गंभीरता पूर्वक जायजा लिया गया। इस दौरान उन्होंने निर्माण कार्य की धीमी प्रक्रिया पर गहरा असंतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि यह निर्माण कार्य उनकी प्राथमिकता सूची में शामिल है। ऐसे में कार्य में अभी तक संतोषजनक प्रगति नहीं हो सकी है। जिस कारण मंत्री ने वहां उपस्थित संवेदक को कड़ी फटकार भी लगाई और इसी महीने के अंत में निर्माण कार्य की प्रगति की विस्तृत रिपोर्ट तलब की है। कार्य की असंतोषजनक प्रगति पर संवेदक को कड़ी चेतावनी देते हुए मंत्री झा ने कहा कि सरकारी राशि से बन रहे निर्माण कार्य में अकारण देरी किए जाने की स्थिति में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

मंत्री ने कहा कि उन्होंने इससे पूर्व भी कई बार रिव्यू किया था और मुझे उम्मीद थी कि कार्य एक निश्चित दशा में दिखेगा। लेकिन, इस प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने उपस्थित मुख्य अभियंता को निर्देश दिया कि नवंबर महीने की प्रगति प्रतिवेदन के साथ मुझे प्रगति की जानकारी दी जाए। निरीक्षण के दौरान मुख्य अभियंता हरिनारायण, अधीक्षण अभियंता अरवि‍ंद मोहन ठाकुर, कार्यपालक अभियंता विनय कुमार, सहायक अभियंता सुमन कुमार, कनीय अभियंता राकेश कुमार आदि भी मौजूद थे।