top menutop menutop menu

दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के परिसर में पूजा-पाठ के साथ संस्कृत सप्ताह शुरू, बुधवार को होगा समापन

दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के परिसर में पूजा-पाठ के साथ संस्कृत सप्ताह शुरू, बुधवार को होगा समापन
Publish Date:Mon, 03 Aug 2020 09:26 PM (IST) Author: Murari Kumar

दरभंगा, जेएनएन। कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय  के परिसर में सोमवार को उपाकर्म संबंधी पूजा-पाठ के साथ संस्कृत सप्ताह का परंपरागत ढंग से आगाज किया गया। वेद विभागाध्यक्ष प्रो. विद्येश्वर झा के नेतृत्व में यज्ञ मंडप में बड़े ही विधि-विधान से पूजन आदि का कार्यक्रम करीब दो घंटे तक चला। चूंकि, इस बार कोरोना काल के कारण सात दिन तक चलने वाले कार्यक्रम को महज तीन दिनों में ही समाप्त करने का निर्णय लिया गया है।

 मंगलवार व बुधवार को वेबिनार व छात्रों के बीच भाषण प्रतियोगिता का भी आयोजन रखा गया है। दोनों दिनों के कार्यक्रम की ऑनलाइन अध्यक्षता कुलपति प्रो. राजेश सिंह करेंगे। आज 11.30 बजे वीसी के उद्घाटन भाषण के बाद कार्यक्रम शुरू होगा। बुधवार के कार्यक्रम में थोड़ी तब्दीली कर दी गई है। अब यह कार्यक्रम तीन बजे से पांच बजे तक चलेगा। उक्त जानकारी देते हुए उपकुलसचिव निशिकांत ने बताया कि वीसी के अध्यक्षीय भाषण के बाद कार्यक्रम का समापन होगा।

वेबिनार व भाषण प्रतियोगिता की रुपरेखा तय 

सिस्को वेबेक्स एप के जरिये दो दिनों तक चलने वाले वेबिनार व संस्कृत संभाषण प्रतियोगिता कार्यक्रम की पूरी रुपरेखा तय कर ली गई है। पहले दिन मंगलवार को आयोजित वेबिनार के मुख्य अतिथि होंगे सोमनाथ संस्कृत विश्वविद्यालय, गुजरात के वीसी प्रो. गोपवंधु मिश्र और विशिष्ट अतिथि होंगे केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय, जयपुर के प्रो. श्रीधर मिश्र। डॉ. एल सविता कर्ण के संचालन में आयोजित वेबिनार में अतिथियों का स्वागत करेंगे प्रोक्टर प्रो. श्रीपति त्रिपाठी और धन्यवाद ज्ञापन करेंगे डीन प्रो. शिवकांत झा।

 इसी तरह दूसरे दिन बुधवार के वेबिनार के मुख्य अतिथि कोल्हान विश्वविद्यालय, चायवासा के वीसी प्रो. गंगाधर पांडा बनाए गए हैं और विशिष्ट अतिथि होंगे बीएचयू के प्रो. चंद्रमौली उपाध्याय व असम विश्वविद्यालय के डॉ. गोविंद शर्मा। स्वागत भाषण देंगे प्रो. सुरेश्वर झा और डॉ. साधना शर्मा धन्यवाद ज्ञापित करेंगी। संचालन की जिम्मेदारी निभाएंगे डॉ. विश्वनाथ एमबी। वहीं दूसरी ओर कार्यक्रम की संयोजिका डॉ. साधना शर्मा ने बताया कि संस्कृत सप्ताह को लेकर खासकर छात्रों में गजब का उत्साह है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.