देवरिया में दो पक्षों में तनाव को लेकर बवाल ,पत्थरबाजी में पांच पुलिसकर्मी जख्मी, फायरिग

पारू के देवरिया थाना क्षेत्र में दो पक्षों में तीन दिनों से चल रहे तनाव ने शुक्रवार को उग्र रूप धारण कर लिया। इसको लेकर वहां जमकर बवाल हुआ।

JagranSat, 21 Aug 2021 02:30 AM (IST)
देवरिया में दो पक्षों में तनाव को लेकर बवाल ,पत्थरबाजी में पांच पुलिसकर्मी जख्मी, फायरिग

मुजफ्फरपुर। पारू के देवरिया थाना क्षेत्र में दो पक्षों में तीन दिनों से चल रहे तनाव ने शुक्रवार को उग्र रूप धारण कर लिया। इसको लेकर वहां जमकर बवाल हुआ। सूचना पर पहुंचे अधिकारियों और पुलिस जवानों पर उपद्रवियों ने जमकर पत्थरबाजी की। इसमें देवरिया थानाध्यक्ष थानाध्यक्ष संजय स्वरूप जमादार निसार अहमद, महिला सिपाही संध्या कुमारी, राधा कुमारी समेत पाच जवान घायल हो गए हैं। उपद्रव मचा रहे लोगों को अधिकारियों ने पहले समझाने का प्रयास किया, लेकिन जब इसका असर नहीं दिखा तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर सभी को खदेड़ दिया। लाठीचार्ज से दर्जनभर लोगों के चोटिल होने की सूचना है। ग्रामीणों का आरोप है कि इस दौरान पुलिस ने चार से पांच राउंड हवाई फायरिग भी की। हालांकि पुलिस ने फायरिग से इन्कार किया है।

जिलाधिकारी प्रणव कुमार ने कहा कि एक सामान्य घटना थी। इसकी सूचना मिलने पर प्रशासन ने समय रहते स्थिति को संभाल लिया। अब स्थिति पूरी तरह नियंत्रित है।

एसएसपी जयंतकांत ने कहा कि पुलिस के साथ झड़प हुई है। शरारती तत्वों को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग किया गया है। फायरिग की घटना नहीं हुई है। झड़प में संलिप्त लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। लाकडाउन के प्रोटोकाल का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है।

पुलिस से झड़प की सूचना पर डीएम प्रणव कुमार, एसएसपी जयंतकात, एसडीएम अनिल कुमार दास, पारू पुलिस इंस्पेक्टर दिगंबर कुमार सहित कई थाना व जिला से पुलिस बल पहुंचा। उपद्रवियों पर नकेल कसने व आम लोगों में विश्वास पैदा करने के लिए घटनास्थल के आसपास के गावों में पुलिस ने फ्लैग मार्च किया।

एसडीपीओ सरैया ने किया समझाने का प्रयास : दा नों पक्षों में तनाव बढ़ने की सूचना पर एसडीपीओ राजेश कुमार शर्मा पुलिस बल के साथ सबसे पहले वहां पहुंचे। इस दौरान उन्होंने एक पक्ष के लोगों को रोकने की कोशिश की तो वे भड़क गए और पत्थरबाजी शुरू कर दी। इससे पुलिस बल को पीछे हटना पड़ा। बाद में कई थानों की पुलिस वहां पहुंची और लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ दिया।

थानाध्यक्ष से लेकर एसएसपी ने की तीन बार शांति समिति की बैठक :

दो पक्षों में तनाव को समाप्त कराने के लिए पुलिस ने जमकर प्रयास किया। इसको लेकर तीन बार शांति समिति की बैठक की। थानाध्यक्ष ने शांति समिति की पहली बैठक थाना परिसर में की थी। इसमें दोनों पक्षों के प्रभावशाली लोगों ने भाग लिया था। दूसरी बैठक पारू पुलिस इंस्पेक्टर दिगंबर कुमार, सीओ अनिल भूषण समेत अन्य अधिकारियो की मौजूदगी में घटनास्थल पर ही हुई थी। तीसरी बैठक एसएसपी ने की थी। इस दौरान एसएसपी ने थानेदार और सीओ को जमकर फटकार भी लगाई थी। साथ ही सभी से शांति बनाए रखने की अपील की थी। बैठक में शामिल लोगों ने उन्हें शांति बहाल रखने में मदद करने का आश्वासन दिया था।

पत्थरबाजी में ये हुए घायल

पत्थरबाजी में थानाध्यक्ष संजय स्वरूप, जमादार निसार अहमद, महिला सिपाही संध्या कुमारी, राधा कुमारी समेत पाच जवान घायल हो गए हैं। थानाध्यक्ष ने बताया कि प्रतिबंध तोड़ने और पुलिस पर हमला करने की घटना में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है।

मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में पुलिस बल तैनात : शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए जिलाधिकारी व एसएसपी के आदेश पर घटनास्थल पर मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में पुलिस बल की प्रतिनियुक्त की गई है। क्षेत्र में पुलिस लगातार गश्त कर रही है और उपद्रवी तत्वों पर नजर रखी जा रही है। बीडीओ ओम राजपूत, सीओ अनिल भूषण समेत कई अधिकारी भी वहां कैंप कर रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.