दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

प्रतिरोधक क्षमता वाले मसालों की किल्लत शुरू, दो माह से इनकी आपूर्ति मांग के विरुद्ध नाकाफी

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ानेवाले मसालों की कीमतों में कोई इजाफा नहीं हुआ है।

व्यवसायियों ने कहा- पहले से उपलब्ध मसालों की हो रही बिक्री आपूर्ति नहीं होने पर बढ़ेगी समस्या। बाजार की दुकानों से जो भी मसाले खरीदे जा रहे हैं वे सभी मसाले लॉकडाउन से पूर्व ही यहां उपलब्ध थे। दो माह से इन मसालों की आपूर्ति मांग के विरुद्ध नाकाफी है।

Ajit KumarSat, 08 May 2021 10:08 AM (IST)

मुजफ्फरपुर, जासं। कोरोना काल को लेकर प्रतिरोधक क्षमता के लिए मसाला काफी कारगर है। इसके लिए न सिर्फ फिजिशियन बल्कि आयुर्वेद के चिकित्सकों ने मसाला को रामबाण बताया है। प्रतिरोधक क्षमता बढ़ानेवाले मसालों की कीमतों में कोई इजाफा नहीं हुआ है, लेकिन इनकी किल्लत बरकरार है। बाजार की दुकानों से जो भी मसाले खरीदे जा रहे हैं वे सभी मसाले लॉकडाउन से पूर्व ही यहां उपलब्ध थे। पिछले दो माह से इन मसालों की आपूर्ति मांग के विरुद्ध नाकाफी है। इधर कोरोना वायरस से लडऩे के लिए बताए गए मसालों के नुस्खों के कारण मसालों की मांग बाजार में लगातार बढ़ रही है।

आयुर्वेदाचार्य पवन कुमार बताते हैं कि हल्दी वाला दूध पीने से प्रतिरोधक क्षमता काफी बढ़ जाती है। इसके अलावा हरेक दिन काढ़ा पीना ना छोड़े। काढ़ा बनाने के लिए काली मिर्च, दालचीनी, सोंठ आदि मसाले काफी कारगर हैं। अगर इसमें मुनक्का और नींबू का रस डाल दिया जाए तो इससे और भी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। काढ़ा के लिए तुलसी का पत्ता, काली मिर्च, अदरक और नींबू भी आवश्यक है। हर्बल-टी भी फायदेमंद बताया गया है। इसके अलावा दालचीनी, सोंठ, काली मिर्च, दालचीनी, बड़ी इलायची, छोटी इलायची समेत अन्य मसाले भी लाभदायक है। कल्याणी के व्यापारी रामनाथ साह बताते हैं- जो भी उनके दुकान में मसाले हैं। वह एक माह पूर्व के हैं। वर्तमान में मसाले की खपत को देखते हुए आगे इन मसालों की किल्लत काफी हो गई है। अब इसके दाम बढऩे की अधिक संभावना बन जाएगी। बता दें कि इन दिनों बड़ी इलायची एक हजार, छोटी इलायची आठ सौ, लौंग तीन सौ और दालचीनी दो हजार पांच सौ रुपये से तीन हजार रुपये प्रतिकिलो बिक रहा है।  

एचएम के निधन पर शोक

औराई (मुजफ्फरपुर) : प्रखंड के उच्च विद्यालय रतवारा बिंदवारा के प्रधानाध्यापक पानापुर निवासी 52 वर्षीय योगेंद्र दास का निधन हो गया। शिक्षक जयकिशोर राय ने बताया कि सांस लेने में परेशानी के बाद उन्हेंं चार दिन पूर्व शहर के ग्लोकल अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां गुरुवार की रात उन्होंने दम तोड़ दिया। उनके निधन पर शिक्षक संघ अध्यक्ष संजय कुमार, प्रभात रंजन, रवि कुमार, सुबोध साह, सुनील कुमार, नवल राम, रामबाबू सहनी, लक्ष्मीनारायण सहनी, अजय झा, वीरेंद्र कुमार वीरू ,जयप्रकाश यादव, उमेश राय आदि ने शोक जताया है। , समेत कई लोगों ने गहरी संवेदना व्यक्त की है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.