Relief news:रेड से येलो जोन में पहुंचा मुजफ्फरपुर का प्रदूषण ग्राफ, स्तर पटना से नीचे

सदर अस्पताल के मेडिसीन विशेषज्ञ डा.नवीन कुमार ने बताया कि प्रदूषण बढऩे से लोगों में सुबह में सांस लेने में परेशानी की शिकायतें मिल रही हैं। आम लोगों से अपील है कि वह मास्क का उपयोग करें। कचरे को इधर-उधर नहीं जलाएं।

Ajit KumarPublish:Mon, 06 Dec 2021 09:15 AM (IST) Updated:Mon, 06 Dec 2021 09:15 AM (IST)
Relief news:रेड से येलो जोन में पहुंचा मुजफ्फरपुर का प्रदूषण ग्राफ, स्तर पटना से नीचे
Relief news:रेड से येलो जोन में पहुंचा मुजफ्फरपुर का प्रदूषण ग्राफ, स्तर पटना से नीचे

मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। प्रदूषण का ग्राफ येलो जोन में चल रहा है। दीपावली के बाद यह स्थिति बनी हुई है। रविवार को मुजफ्फरपुर का एक्यूआइ 289 पर पहुंच गया है। पटना का ग्राफ 326 और गया का ग्राफ 170 एक्यूआइ पर थमा। इससे लोगों को सांस लेने में परेशानी की समस्या बढ़ गई है। बच्चों से लेकर वरीय नागरिक सब तबाह हैं। 

सांस संबंधी बीमारी का प्रभाव बढ़ा

सदर अस्पताल के मेडिसीन विशेषज्ञ डा.नवीन कुमार ने बताया कि प्रदूषण बढऩे से लोगों में सुबह में सांस लेने में परेशानी की शिकायतें मिल रही हैं। आम लोगों से अपील है कि वह मास्क का उपयोग करें। कचरे को इधर-उधर नहीं जलाएं। शहर में जाम भी प्रदूषण को बढ़ावा देने में सहायक हो रहा है। इससे बचाव पर ध्यान देने की जरूरत है।

ये बन रहे प्रदूषण के कारण

-- पुराने वाहन, मिलावटी तेल से चल रहा है उससे बढ़ रहा प्रदूषण

- शहर में उड़ रहे धूलकण तथा जाम लगने के कारण भी प्रदूषण का ग्राफ बढ़ रहा।

वायु प्रदूषण का ये रहा ग्राफ

वायु गुणवत्ता का ये है मानक

शून्य से 50 के बीच एक्यूआइ अच्छा, 51 से 100 संतोषजनक, 101 से 200 मध्यम, 201 से 300 खराब, 301 से 400 बहुत खराब और 401 से 500 के बीच को गंभीर श्रेणी में माना जाता है। 

अहियापुर खालिनपुर में बिजली तार काटा, 36 घंटे से लाइन बंद, जेई के साथ की गाली-गलौज

मुजफ्फरपुर : अहियापुर थाने के खालिनपुर वार्ड-7 में बिजली के हो रहे कार्य को कुछ ग्रामीण ने रोक दिया। 55 हजार से अधिक का नया तार काट कर पोखर में फेंक दिया। अहियापुर थाने की पुलिस को लिखित आवेदन देने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। रविवार को 11 केवीए का तार नहीं लगाने दिया और फिर से उनलोगों ने बवाल किया। जेई सर्वजीत को कुछ देर तक बंधक बनाए रखा। डीएसपी को फोन करने पर थाने की पुलिस गई तो मामला शांत हो गया। पुलिस के चले जाने पर फिर कुछ लोगों ने बवाल कर दिया। जेई के कालर पकड़कर गाली-गलौज की गई। उक्त इलाके में पिछले 36 घंटे से लाइन बाधित है। पुलिस की कोई कार्रवाई नहीं होने से बिजली विभाग के कर्मी डरे हुए हैं। अहियापुर थानाध्यक्ष विजय कुमार से जब इस मामले में बात की गई तो उन्होंने आवेदन आने के बाद एफआइआर करने की बात कही। विद्युत अधिकारियों का कहना है कि, धीरज कुमार, धर्मेन्द्र कुमार, पंकज कुमार नामक का व्यक्ति बिजली कार्य में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। बिजली कर्मियों को काम नहीं करने दे रहे।