पांच दिन पहले भारी तेज हथियार से गर्दन काट की गई मुजफ्फरपुर के राकेश की हत्या

मृतक के भाई ने बताया कि पांच-छह दिनों से राकेश दिखाई नहीं दे रहा था। दो-तीन दिन पहले उसकी पत्नी राकेश को खोजने किराये के मकान में गई थी। राकेश की पत्नी राधा देवी ने उसे झांसा देते हुए कहा कि वे घर पर नहीं हैं बाहर गए हैं।

Ajit KumarMon, 20 Sep 2021 09:23 AM (IST)
तीन-चार दिन से किराए के मकान से निकाला जा रहा था सामान। फोटो- जागरण

मुजफ्फरपुर, जासं। नगर थाना के बालूघाट मोहल्ला में सुनील कुमार शर्मा के मकान में किरायेदार सुभाष कुमार के कमरे में राकेश कुमार की हत्या कम से कम पांच दिन पहले की गई। शव सड़ गया था और उससे तेज दुर्गंध निकल रहा था। उसके भाई दिनेश सहनी ने पुलिस को बताया कि पांच-छह दिनों से राकेश दिखाई नहीं दे रहा था। दो-तीन दिन पहले उसकी पत्नी राकेश को खोजने सुनील शर्मा के किराये के मकान में गई थी। राकेश की पत्नी राधा देवी ने उसे झांसा देते हुए कहा कि वे घर पर नहीं हैं, बाहर गए हैं। किराए के कमरे से सुभाष, राकेश की पत्नी राधा व उसके रिश्तेदार तीन-चार दिनों से कमरे से सामान निकाल कर ले जा रही थी। हालांकि उसने फिलहाल किराये का फ्लैट नहीं छोडऩे की बात मकान मालिक व अन्य लोगों को बताई थी। आशंका है कि हत्या जिस रात में की गई और उसके अगले दिन से ही कमरे से सामान निकाला जाने लगा। 

बदबू नहीं फैले इसके लिए कमरे में कर रखा था पूरा इंतजाम

कमरे में बदबू नहीं फैले इसके लिए सुभाष, राधा व उसके रिश्तेदारों ने पूरा इंतजाम कर रखा था। कमरे में जगह-जगह ब्लीचिंग पाउडर व फेनाइल की गोलियां रखी गई थी। खून या शव से लगे कोई अन्य चीजें बह कर मकान के बाहर न जाए। इसके लिए उसने चुपके से शनिवार को मकान से निकलने वाले नाला को फोम से बंद कर दिया था।

बेहोशी में हत्या किए जाने की आशंका

सुभाष की तुलना में राकेश काफी तगड़ा था। होश में रहने पर उसकी हत्या करना अकेले सुभाष के बूते से बाहर था। उसके फ्लैट से सटा ही दूसरा फ्लैट है। दोनों का मुख्यद्वार अगल-बगल में है। कमरे के अंदर किसी भी तरह की खटपट की आवाज बगल या नीचे-उपर के फ्लैट में जरूर पहुंचती। होश में रहने पर हत्या का प्रतिरोध करने पर कमरे में उठापटक भी होती। इसकी आवाज बगल या मकान में रहने वाले अन्य किरायेदारों को जरूर सुनाई देती। इससे आशंका व्यक्त की जा रही है कि राकेश को पहले शराब या अन्य नशा पिलाकर या किसी हार्ड वस्तु से उसके सिर पर प्रहार कर बेहोश कर दिया गया होगा। हालांकि ज्यादा आशंका नशीली दवा मिली शराब पिलाने की ही है। इसके बाद कई लोगों मिलकर भारी तेज हथियार से गर्दन, हाथ-पैर काटा होगा। ड्राम में शव का डिस्पोजल आसानी से हो इसके लिए धड़ से सिर व हाथ- पैर अलग-अलग करने की आशंका जताई जा रही है। सिकंदरपुर ओपी अध्यक्ष हरेंद्र कुमार ने बताया कि शव के सभी अंग कमरे में मिले हैं। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम कराने के बाद शव को राकेश के स्वजनों को सौंप दिया गया है। स्वजनों से उसका दाह संस्कार भी कर दिया है।

दीवार पर मिले खून के गहरे छींटे, खून से सनी गंजी

एफएसएल टीम को कमरे की दीवार पर खून के गहरे छींटे, खून से सनी गंजी, हथौड़ी, चाकू व ताला मिला है। कोई भारी तेज हथियार नहीं मिला है। एफएसएल की टीम ने सभी को छह पैकेट में संग्रहित किया है।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.