दरभंगा जंक्शन पर पार्सल में ब्लास्ट को लेकर हाई अलर्ट पर रेलवे, सीतामढ़ी में जबरदस्त छानबीन

रेलवे सुरक्षा बल ट्रेन की बोगियों व प्लेटफॉर्म पर चला रहा सर्च ऑपरेशन सीतामढ़ी जंक्शन पर भी दो वर्ष पूर्व बम की सूचना पर मच गई थी अफरातफरी दरभंगा ब्लास्ट को लेकर नेपाल के तराई क्षेत्र से गुजरने वाली भारतीय रेलवे के दरभंगा-नरकटियागंज रेलखंड को विशेषकर अलर्ट किया गया है।

Dharmendra Kumar SinghMon, 21 Jun 2021 04:45 PM (IST)
दरभंगा में ब्‍लास्‍ट के बाद जांच तेज। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

सीतामढ़ी, [ सागर कुमार]। दरभंगा जंक्शन पर पार्सल में ब्लास्ट के बाद सीतामढ़ी जंक्शन पर भी हाई अलर्ट है। आरपीएफ व जीआरपी मिलकर जांच-पड़ताल में जुटी है। बीते गुरुवार को दरभंगा रेलवे स्टेशन पर सिकंदराबाद से पहुंचे पार्सल के एक सामान में बलास्ट के बाद समस्तीपुर मंडल क्षेत्र के सभी क्रॉङ्क्षसग, जंक्शन के साथ रेलवे ट्रैक, पुल-पुलिया को हाई अलर्ट पर रखा गया है। इसको लेकर नेपाल के तराई क्षेत्र से गुजरने वाली भारतीय रेलवे के दरभंगा-नरकटियागंज रेलखंड को विशेषकर अलर्ट किया गया है।

प्रमुख स्टेशनों में मर्जदावा, गोखुला, सिकटा, रक्सौल, आदापुर, छौड़ादनो, घोड़ासहन, चैनपुर, बैरगनिया, ललबेगिया पुल, रीगा, बंगामती नदी के रेलवे पुल, सीतामढ़ी, बाजपट्टी, जनकपुर रोड, कमतौल जैसे महत्वपूर्ण स्टेशनों पर रेल प्रशासन पैनी नजर रखी हुई है। आने-जाने वाली ट्रेनों के साथ जंक्शन पर विशेष जांच अभियान चलाया जा रहा है। रेलवे स्टेशन से लेकर ट्रेन के डिब्बों में सुरक्षा अधिकारी पहुंचकर जांच-पड़ताल कर रहे हैं। जांच के दौरान यात्रियों से उनके आगमन-प्रस्थान को लेकर भी पूछताछ की जा रही है। इस दौरान वे कोई भी कसर नहीं छोडऩा चाहते हैं। इस अभियान में रेलवे स्टेशन के पूर्वी क्षेत्र में राजकीय रेल थानाध्यक्ष राजकुमार राम अपनी सुरक्षा कमांडो के साथ चेङ्क्षकग अभियान में डटे हुए हैं तो पश्चिमी क्षेत्र के अलावा विचरण क्षेत्र की कमान स्थानीय रेलवे सुरक्षा बल की कमांडर अनिता कुमारी संभाल राखी हैं। आरपीएफ द्वारा गठित टीम का नेतृत्व उप निरीक्षक पीके झा, टी शिव बहादुर कर रहे हैं। सुरक्षा बलों के साथ ट्रेन, प्लेटफार्म की जांच-पड़ताल में लगे हैं। स्टेशन पर पहुंचने वाली 03165 कोलकाता-सीतामढी, 05207 दरभंगा-रक्सौल सवारी गाड़ी, 05214 रक्सौल-सीतामढी सवारी गाड़ी, 05218 रक्सौल-दरभंगा सवारी गाड़ी, 05216 पाटलिपुत्र- रक्सौल सवारी गाड़ी में सधन चेङ्क्षकग अभियान चलाया गया।

दो वर्ष पूर्व सीतामढ़ी जंक्शन पर भी बम की अफवाह से मचा हड़कंप

दो वर्ष पूर्व 10 जनवरी 019 को भी सीतामढ़ी रेलवे स्टेशन पर बम होने की सूचना के बाद मची अफरातफरी मच गई थी। हालांकि, कोई विस्फोट नहीं हो सका था। समय सहते स्थानीय रेलवे प्रशासन ने विधिवत तरीके से माहौल को अपने काबू में कर लिया था। इस बीच सीतामढ़ी-दरभंगा, सीतामढ़ी-रक्सौल, सीतामढ़ी-मुजफ्फरपुर के बीच तकरीबन पांच से छह घंटे तक रेल परिचालन प्रभावित हुआ था। इस दौरान जांच-पड़ताल के दौरान एक पर्चा मिला था। जिसमे रेलवे ट्रैक को उड़ा देने की धमकी दी गई थी। रेलवे सुरक्षा बल के सहायक कमांडेंट के नेतृत्व में डॉग स्क्वायड की टीम ने जांचोपरांत अफवाह बताया था।

क्या कहती हैं आरपीएफ कमांडर :-

इस बाबत पूछे जाने पर स्थानीय आरपीएफ कमांडर अनिता कुमारी ने बताया कि यह अभियान समस्तीपुर रेलवे सुरक्षा बल के कमांडेंट अरङ्क्षवद कुमार लाल के निर्देश के आलोक में चलाया जा रहा है। इस दौरान अभी तक जांच के दौरान किसी भी यात्री के पास से कोई भी आपत्तिजनक वस्तु बरामद नहीं हुई है।

क्या कहते हैं रेल थानाध्यक्ष :

इस बाबत पूछे जाने पर जीआरपी प्रभारी राज कुमार राम ने बताया कि दरभंगा पार्सल ब्लास्ट के बाद लॉ एंड ऑर्डर हाई अलर्ट पर है। रेल एसपी अशोक कुमार के निर्देश के आलोक में स्टेशन पर सधन चेङ्क्षकग अभियान चलाया जा रहा है। हालांकि, उन्होंने बीते तीन दिनों से चल रहे चेङ्क्षकग अभियान में किसी भी यात्री के पास से कोई भी आपत्तिजनक वस्तु बरामद नहीं होने की बात कही है।

-- पार्सल में हुए विस्फोट से कपड़े के ग_र में आग लग गई थी। इस घटना की जानकारी फॉरेंसिक टीम को दे दी गई। जांच में सामने आया है कि कपड़े की यह गठरी किसी मोहम्मद सूफियान नाम के व्यक्ति ने सिकंदराबाद से दरभंगा भेजी थी। जिसके बारे में जानकारी मांगी गई है।- अशोक कुमार स‍िंंह, रेल पुलिस अधीक्षक, मुजफ्फरपुर।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.