स्वतंत्रता सेनानियों के गढ़ में समरसता का परचम

सकरा प्रखंड की मैं खालिकनगर पंचायत हूं। बात वर्ष 1955 की है जब सुमेरगंज के जमींदार जकी हसन खां मुकदमे के सिलसिले में मुजफ्फरपुर जा रहे थे।

JagranSun, 10 Nov 2019 02:15 AM (IST)
स्वतंत्रता सेनानियों के गढ़ में समरसता का परचम

मुजफ्फरपुर : सकरा प्रखंड की मैं खालिकनगर पंचायत हूं। बात वर्ष 1955 की है जब सुमेरगंज के जमींदार जकी हसन खां मुकदमे के सिलसिले में मुजफ्फरपुर जा रहे थे। गौड़ीहार से गुजरने के क्रम में उन्हें एक संत से मुलाकात हुई तो वे रुककर उनसे आशीर्वाद लेने के लिए गाड़ी से नीचे उतरे। संत ने कहा कि आज मुकदमे में आपकी जीत तय है, जब आप लौटेंगे तो जरूर रुकेंगे। उस दिन मुकदमे में जीत हुई। जब वे वापस लौटे तो संत से मुलाकात तो नहीं हुई लेकिन उनकी याद में राम जानकी मठ के नाम 22 बीघा जमीन दान कर दी। सच मानें तो समरस समाज की नींव केवल जमींदार जकी हसन खां ने ही नहीं रखी बल्कि गांव के रामप्रीत नारायण वर्मा, गेंदा लाल सिंह, रामप्रीत सिंह उर्फ गांधी जी, नाजीर अली, नुरूल होदा, डॉ सईद समेत कई लोगों ने भी समाज उत्थान के लिए अनोखे कार्य किए। अच्छे कामों के लिए लोग उन्हें आज भी याद करते हैं। अंग्रेजी शासन के खिलाफ लड़ाई लड़ने में भी मेरी भूमिका अहम रही। मुझे इस बात का गर्व है कि मैं कल भी समृद्ध थी, आज भी हूं। पंचायत चुनाव से पूर्व तथा पहले मुखिया पद को सुशोभित करने वाले मोईजुल हक व जिप सदस्य पद को सुशोभित करने वाले उनके पुत्रा शाह आलम शब्बू ने विकास की नई दिशा दी। सच मानें तो कच्ची सड़क को पक्की सड़क में बदलने का श्रेय जिला परिषद उपाध्यक्ष के पद पर रहते हुए शाह आलम शब्बू को ही जाता है। इस बीच कई जनप्रतिनिधि हुए जिन्होंने विकास की गति को तेज करने की कोशिश की। पंचायत को आदर्श पंचायत का दर्जा मिले तथा विकास की चौमुखी धारा बहे, इस लक्ष्य के साथ महेश शर्मा द्वारा जो कार्य किया जा रहा है उसे मुझे अपार खुशी मिल रही है। मुझे दुख इस बात की है कि सरकार की अनदेखी के कारण स्वास्थ्य क्षेत्र में मैं पिछड़ी हूं। लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा के लिए शहर ही जाना पडता है। राष्ट्रीयकृत बैंक का अभाव का दंश मैं झेल रही हूं। राज्य का एकलौता सूर्य भगवान की मंदिर मेरी पहचान रही। आज लोगों ने मंदिर व मठ की जमीन पर कब्जा जमा लिया है जिसका मलाल मुझे है। चौपाल में ग्रामीणों ने खुलकर अपनी बातें रखीं। अरुण कुमार का कहना है कि पंचायत में विकास की गति तेज हुई है। सरकारी लापरवाही के कारण कई घरों में विधुत कनेक्शन नहीं मिल सका जिससे लोगों को अंधेरे में रहना पड़ता है। मो. एनामुल हक का कहना है कि पंचायत में राष्ट्रीयकृत बैंको का अभाव है। बैंक होने से पंचायत का विकास तेजी से होगा। विजय भूषण का कहना है कि ग्रामीणों को मानसिक रूप से भी विकसित होने की जरूरत है। शौचालय का उपयोग कर पंचायत को स्वच्छ बनाने में मदद करना चाहिए। नागेंद्र राय का कहना है कि पंचायत में मठों की घेराबंदी न होने से असामाजिक तत्वों का जमावड़ा रहता है। प्रभाकर प्रसाद यादव का कहना है कि सरकारी अस्पतालो में चिकित्सकों की जरूरत है। सकरा के अंतिम छोर में पंचायत होने के कारण लोगों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। योजनाओं को धरातल पर उतारना मेरा कर्तव्य : मुखिया महेश शर्मा ने कहा कि सरकार द्वारा संचालित योजनाओं को धरातल पर उतारना मेरा कर्तव्य है। पंचायत को आदर्श पंचायत का दर्जा मिले, सूर्य मंदिर को संयोजने की जरूरत है। नुन नदी पर पुल का निर्माण हो तथा राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा खुले इस दिशा में प्रयास चल रहा है। जनता का साथ मिले तो हर काम संभव है। चौपाल में उठाई गई समस्याएं

- पंचायत के करीब ढाई सौ घरों में नहीं लगा बिजली का कनेक्शन

-अस्पतालों में चिकित्सक व दवा का अभाव

- तकिया चौक स्थित नदी में पुल का निर्माण नहीं होना

- सूर्य मंदिर व शिव पार्वती मंदिर की जमीन पर स्थानीय लोगों का कब्जा

- राष्ट्रीयकृत बैंक शाखा का अभाव

- मनरेगा भवन व पंचायत सरकार भवन का अभाव

-गौडीहार मन पूर्वी टोला ,गंज गौड़ीहार यादव टोला ,पैतरापुर महादलित टोला में विद्यालय का अभाव

-शेड का निर्माण, जल संचय के लिए सोख्ता का निर्माण न होना

पंचायत की उपलब्धि

- पुल- पुलिया,सड़क व नल जल कार्य में प्रगति

-पंचायत को खुले में शौच मुक्त कराना

-सार्वजनिक व निजी स्थानों पर पोखर निर्माण कार्य ,मिट्टीकरण ,पौधारोपण, श्मशान घाट की मिट्टी करण

- राउम प्रतिराजपुर को माध्यमिक विद्यालय में उत्क्रमित कराना

- गली-गली में सड़क व नाला का निर्माण, पुल- पुलिया व विद्यालय की घेराबंदी

-सामाजिक समरस्ता कायम करना चौपाल में उपस्थित ग्रामीण :

सुरेन्द्र चौधरी ,राजकिशोर राय ,मो0 महफुज आलम ,संजीत कुमार राय ,नंदन राय ,राजा ठाकुर ,श्रवण कुमार ,मो. इसराइल ,कपल राय ,कमल देव साह ,सुरेश राय ,विक्रम कुमार ,नागेन्द्र राय ,मो. एनामुल हक ,विजय भूषण ,मो. मुश्ताक आलम, प्रभाकर प्रसाद यादव।

पंचायत एक नजर में

नाम : गौड़ीहार खालिक नगर

जनसंख्या 11,160

मतदाता 6545

वार्डों की संख्या 14

विद्यालयों की सं. 7

आंगनबाडी केंद्र 9

जनवितरण दुकान 4

स्वास्थ्य उपकेंद्र 1

अतिरिक्त स्वास्थ्य केंद्र 1।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.