मोबाइल टावर डंपिंग कर मुजफ्फरपुर की बच्ची के अपहर्ता तक पहुंचने में जुटी पुलिस

अपहर्ताओं के चंगुल से निकलने के बाद बच्ची की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। वह अभी तक डरी-सहमी है। वह ठीक से बोल भी नहीं पाती है। उसे सामान्य स्थिति में आने का इंतजार किया जा रहा है। सामान्य स्थिति में आने के बाद उसका कोर्ट में बयान दर्ज कराएगी।

Ajit KumarSat, 25 Sep 2021 01:24 PM (IST)
दूसरे दिन घर के सामने ट्रैक्टर टेलर में मिली थी बच्ची।

मुजफ्फरपुर, जासं। सदर थाना क्षेत्र से बच्ची के अपहर्ताओं का पता लगाने के लिए क्षेत्र के संदिग्ध मोबाइल नंबरों को पुलिस ट्रेस कर रही है। इसके लिए इलाके में स्थित मोबाइल टावरों को डंप किया जा रहा है। अबतक दो टावरों को डंप किया गया है। बच्ची के घर के आसपास के टावरों के डंप करने से पुलिस को कुछ संदिग्ध मोबाइल नंबर मिले हैं। इसका सीडीआर निकाला जा रहा है। अपहर्ताओं के चंगुल से निकलने के बाद बच्ची की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। वह अभी तक डरी-सहमी है। वह ठीक से बोल भी नहीं पाती है। उसे सामान्य स्थिति में आने का इंतजार किया जा रहा है। सामान्य स्थिति में आने के बाद पुलिस उसका कोर्ट में बयान दर्ज कराएगी। एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। 

बाइक सवार अपहर्ताओं की पहचान में जुटी पुलिस

बुधवार की देर शाम बाइक सवार बदमाशों ने दरवाजे के निकट से बच्ची का अपहरण कर लिया था। बदमाशों ने अंग्रेजी में लिखा एक पर्चा भी छोड़ा था जिसमें पांच लाख की फिरौती मांगी गई थी। अगले दिन बच्ची अपने घर के सामने ट्रैक्टर के टेलर से बरामद हुई। बच्ची के पिता के बयान पर अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई थी। पुलिस अब तक अपहरण करने वाले बाइक सवार बदमाशों की पहचान नहीं कर पाई है। उसी की सुराग के लिए टावर डंपिंग व अन्य तरीके अपना रही है।  

किशोर की पिटाई व करंट लगाने के मामले में पुलिसिया कार्रवाई सिफर

मोतीपुर (मुजफ्फरपुर), संस: थाना क्षेत्र के एक गांव में गुरुवार को मोबइल चोरी करने का आरोप लगाते हुए दबंगों द्वारा 12 वर्षीय किशोर को वाहन से बांध कर बेरहमी से पिटाई करने एव बिजली का करंट लगाने के मामले में पुलिसिया कार्रवाई सिफर है। हालांकि, पीडि़त पक्ष की ओर से थाने में अब तक लिखित शिक़ायत नहीं दी गई है। पुलिस का कहना है कि आवेदन मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

बताते चलें कि मोबाइल फोन चोरी करने का आरोप लगाते हुए दबंगों ने किशोर को वाहन से बांध कर पिटाई की थी। इतना ही नहीं, उसे मोबाइल फोन चोरी करने की बात जबरन स्वीकार करने के लिए बिजली का करंट भी लगा दी थी। सूचना पर पहुंची पुलिस बंधक किशोर को मुक्त करा कर थाने लाई। बाद में स्वजनों को बुलाकर किशोर को सुपुर्द कर दिया। थानाध्यक्ष अनिल कुमार ने बताया कि आवेदन मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि पीडि़त परिवार को लिखित शिकायत देने को बोला गया था। अब तक थाने में आवेदन नहीं दिया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.