मधुबनी में धान अधिप्राप्ति को ले सरकार के निर्णय पर पैक्स अध्यक्षों ने जताया विरोध

पैक्स अध्यक्षों ने इस बात पर क्षोभ व्यक्त किया कि गत वर्ष सरकार सीसी लोन पर सूद नहीं लेने की घोषणा की थी लेकिन बाद में 12 प्रतिशत सूद जोड़कर ले लिया गया। इस बार भी सूद नहीं लेने की बात कही जा रही है।

Ajit KumarSat, 27 Nov 2021 11:22 AM (IST)
सीसी लोन पर सूद नहीं लेने का विभाग से लिखित पत्र जारी करने की रखी मांग। फोटो- जागरण

बाबूबरही, संस। धान अधिप्राप्ति को लेकर सरकार के निर्णय पर बाबूबरही के पैक्स अध्यक्षों ने सवाल उठाए हैं। कहा गया है कि अगर सरकार इसमें संशोधन नहीं करती है तो ये लोग धान अधिप्राप्ति का बहिष्कार करेंगे। बैठक भूपटी में व्यापार मंडल अध्यक्ष रंधीर खन्ना की अध्यक्षता में हुई है। बताया गया कि सरकार ने निर्णय लिया है कि पैक्स किसानों का धान अधिप्राप्ति कर इसे उसना चावल में परिवर्तित कर एसएफसी को उपलब्ध कराएंगे। बताया कि जिले मेंं महज सकरी में ही एक मील है जो धान को उसनकर उसना चावल उपलब्ध करा सकता है। जबकि जिले में 399 पैक्स हैं। बताया कि 399 पैक्सों के धान को एक मील कैसे निपटारा कर सकता है। 

आरोप लगाया कि उक्त मील का पूर्व से पैैक्स अध्यक्षों के साथ बर्ताव अच्छा नहीं रहा है। साथ ही जिले के कोने-कोने से यहां धान लाने मे लगेज भी बढ जाएगा। कहा गया कि अगर सरकार की किसानों के प्रति मंशा ठीक है तो इस तुगलकी फरमान को अतिशीघ्र वापस लिया जाय अथवा सरकार पैक्स से धान अधिप्राप्ति कर खुद उसना चावल में परिवर्तित करवा लें। पैक्स अध्यक्षों ने इस बात पर क्षोभ व्यक्त किया कि गत वर्ष सरकार सीसी लोन पर सूद नहीं लेने की घोषणा की थी, लेकिन बाद में 12 प्रतिशत सूद जोड़कर ले लिया गया। इस बार भी सूद नहीं लेने की बात कही जा रही है।

कहा कि विभाग इनलोगों को सूद नहीं लेने का लिखित पत्र जारी करें। एक अहम समस्या के बारे में बताया गया कि किसानों ने जिस मोबाईल नंबर से तीन चार वर्ष पूर्व रजिस्ट्रेशन करवाया था, इस बार वही मोबाइल नंबर रजिस्ट्रेशन के लिए वैध कहा जा रहा है, जबकि अधिकांश किसानों के मोबाइल या तो खो गए या रिचार्ज नहीं हो पाने के कारण बंद हो गए। बैठक में उदय कामत, कारी यादव , शिबू सिंह, मिथिलेश यादव, रामदयाल यादव, रामकेवल चौधरी, रामअशीष यादव, रामप्रकाश चाैधरी, यदुबीर यादव, सोनेलाल सिपालिया, बीरेन्द्र साहु, सुशील राय, संजय झा, चंदेश्वर यादव आदि शामिल थे। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.