अमेरिकी भी बिहार के वीटीआर की खूबसूरती से होंगे अवगत, सैलानियों के लिए है खास...

मंगुराहा गेस्ट हाऊस के बाहर अमेरिकी पर्यटक जोनाथन सिपोला से बात करते डीएम कुंदन कुमार । जागरण

West Champaran अब वीटीआर की खूूबसूरती को लेकर अमेरिका में फैलेगी जागरूकत तीन दिवसीय यात्रा पर आए अमेरिकी दंपती ने डीएम से मिलकर किया वादा विदेशी सैलानियों की संख्या वीटीआर में बढ़ाने की पहल बोले जोनाथन सिपोला 10 वर्षों में काफी बदल गया वीटीआर

Dharmendra Kumar SinghSun, 21 Feb 2021 05:46 PM (IST)

पश्चिम चंपारण, (दीपेंद्र बाजपेयी ) । पिछले 10 वर्षों से वीटीआर काफी बदल चुका है। यहां जंगलों में घूमने के बाद असीम शांति मिलती है । विदेशों में वीटीआर को लेकर व्यापक प्रचार - प्रसार नहीं है। बहुतेरे लोग इसकी खूबसूरती, जैव विविधता एवं सैलानियों के आवासन तथा भोजन की बेहतर व्यवस्था से अंजान है। तीन दिवसीय भ्रमण पर आए अमेरिकी दंपती जोनाथन सिपोला व रेबिका सिपोला ने रविवार को डीएम कुंदन कुमार से मुलाकात की और अमेरिका समेत अन्य देशों में वीटीआर के सौंदर्य को लेकर जागरूकता फैलाने की बात कही। उन्होंने हाल के दिनों में वीटीआर में पर्यटकों की सुविधा में हुए विकास की सराहना की। डीएम अमेरिकी दंपती के इस सुझाव का स्वागत किया। उन्होंने बताया कि पर्यटक जोनाथन सिपोला टूरिज्म को लेकर काम करते हैं। कई देशों में वे भ्रमण करते रहते हैं।लेकिन यहां का सौंर्दय उन्हें काफी आकर्षित किया है। वे अमेरिका समेत अन्य देशों में वीटीआर में पर्यटकों के लिए की व्यवस्था को ले जागरूकता फैलाएंगे।  उनके प्रयास से वीटीआर में विदेशों पर्यटकों की संख्या बढऩे की संभावना बनी है।

वीटीआर जैसी शांति और कहीं नहीं 

जोनाथन सिपोला ने बताया कि पिछले 10 वर्षों से वे यहां आते हैं। पहले अकेले आते थे। इसबार पत्नी एवं बच्चों के साथ आए हैं। दस वर्ष में वीटीआर में काफी बदलाव हुआ है। पर्यटकों के लिए सुविधाएं बेहतर हुईं है ।  अब यहां पर्यटकों की संख्या निश्चित रूप से बढ़ेगी। मुझे वीटीआर काफी आकर्षित करता है । वाल्मीकिनगर तो अछ्वुत है । मंगुराहा के ललभितिया पहाड़ पर जो शांति है उसको महसूस करने के लिए यहां बार- बार आने को मन करता है। बता दें कि अमेरिकी दंपती तीन दिवसीय भ्रमण पर बीते 19  फरवरी आए थे।

बिहारी सत्कार व भोजन बेमिसाल  

 अमेरिकी पर्यटक रेबिका सिपोला तो बिहारी सत्कार और यहां के भोजन की फैन हो गईं हैं। उन्होंने कहा कि बिहार के निवासी मुझे काफी सच्चे और अच्छे लगे। खुलकर अतिथियों का स्वागत करने का इनका अंदाज बेमिसाल है।  बिहारी भोजन भी लजीज है तथा यहां की कला - संस्कृति व कलाकार मुग्ध करने वाले हैं। उन्होंने  इको टूरिज्म के मैनेजर विवेक बादल की बेहतर व्यवस्था की सराहना की।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.