top menutop menutop menu

मुजफ्फरपुर-महुआ मार्ग टूटा, आवागमन बाधित

मुजफ्फरपुर-महुआ मार्ग टूटा, आवागमन बाधित
Publish Date:Fri, 14 Aug 2020 01:49 AM (IST) Author: Jagran

मुजफ्फरपुर। भीषण बाढ़ व मूसलधार बारिश से महुआ-मुजफ्फरपुर मार्ग कुलेसरा के समीप ढाई सौ फीट में टूट गया जिससे आवागमन बाधित हो गया। छितरौली निवासी सकलदेव सिंह ने बताया कि उक्त मार्ग बंद होने से मुजफ्फरपुर व वैशाली का संपर्क बाधित हो गया है। छितरौली, रतनौली, मनियारी, अमरख, किनारू समेत दर्जन भर पंचायतों का सोनबरसा बाजार से संपर्क टूट गया। सोनबरसा के दुकानदार दिलीप कुमार ठाकुर ने बताया कि मनियारी थाने की जीप प्रतिदिन इसी रास्ते से विभिन्न इलाकों में गश्ती को जाती थी। दो-तीन दिनों से रूट बदलकर गश्ती में जाने से समय व दूरी अधिक तय करनी पड़ती है। पताही में फरदो व तिरहुत नहर का पानी फैला मुशहरी प्रखंड की पताही पंचायत में तिरहुत नहर व फरदो नाला का पानी प्रवेश कर गया है जिससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है। इससे पंचायत के सभी वार्ड प्रभावित हैं। गरीबों के समक्ष भोजन की समस्या उत्पन्न हो गई है। लोग ट्यूब की नाव बनाकर एक टोले से दूसरे टोले में जा पा रहे हैं। इस संबंध में मुखिया संजय कुमार ने बताया कि लोगों की परेशानी को देखते हुए सीओ से बात करने का प्रयास किया, लेकिन बात नहीं हो सकी। तब डीएम चंद्रशेखर सिंह से पंचायत में सामुदायिक किचन चलाने का अनुरोध किया। मुख्य मार्ग का किया निरीक्षण पारू के जिला पार्षद पति तुलसी राय ने टूटे मुख्य मार्ग का निरीक्षण कर अधिकारियों से बात की। उन्होंने प्रभावित परिवारों से मिलकर फसल क्षति और राहत शिविर केंद्र संचालित करने का आश्वासन दिया। इधर, चोचाही छपरा पंचायत का गौरा गाव दोबारा बाढ़ की चपेट में आने से तबाह हो गया। अधिकतर घरों में पानी घुस गया है। सरकार द्वारा संचालित राहत शिविर में खाना बनना बंद हो गया है। इससे गरीब परिवारों के समक्ष भुखमरी की नौबत है। सीओ ललित कुमार सिंह ने बताया कि बाया जगदीशपुर पंचायत के गावों के हालात का जायजा लिया जा रहा है। इसके बाद राहत शिविर संचालित कराया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.