Muzaffarpur: सत्तूआनी आज, स्नान के बाद सत्तू और कच्चा आम की चटनी खा रहे लोग

स्नान के बाद सत्तू, घड़ा में पानी, गुड़, वस्त्र और पंखा भी दान करना चाहिए।

बाबा गरीबनाथ मंदिर के प्रधान पुजारी पं.विनय पाठक ने बताया कि बुधवार की सुबह से ही लोग इस त्योहार को मना सकेंगे। स्नान के बाद पूजन व दान करने से मनचाहे फल की प्राप्ति होती है। साथ ही लोग पुण्य के भागी होते हैं।

Ajit KumarWed, 14 Apr 2021 10:29 AM (IST)

मुजफ्फरपुर, जासं। सत्तूआनी पर्व बुधवार को मनाया जाएगा। इसकी तैयारी पूरी हो गई है। मंगलवार को लोगों ने बाजार में सत्तू और कच्चे आम की खरीदारी की। इन दिन गंगा, नदी और तालाबों में स्नान के बाद सत्तू और कच्चा आम की चटनी खाने की परंपरा रही है। हालांकि इस बार कोरोना के कारण घर पर ही इसे किया जा रहा है। साथ ही स्नान के बाद सत्तू, घड़ा में पानी, गुड़, वस्त्र और पंखा भी दान करना चाहिए। बाबा गरीबनाथ मंदिर के प्रधान पुजारी पं.विनय पाठक ने बताया कि बुधवार की सुबह से ही लोग इस त्योहार को मना सकेंगे। स्नान के बाद पूजन व दान करने से मनचाहे फल की प्राप्ति होती है। साथ ही लोग पुण्य के भागी होते हैं।

जूड़शीतल कल

पर्यावरण और स्वच्छता को लेकर मिथिलांचल में मनाया जाने वाला जूड़शीतल पर्व गुरुवार को मनाया जाएगा। पं.विनय पाठक ने बताया कि यह प्रकृति का संयोग है कि मिथिलांचल के नए साल की शुरुआत तपती गर्मी से होती है। इसके स्वागत में बड़े-बुजुर्ग सुबह-सुबह छोटों के सिर पर बासी जल देकर शीतलता के साथ जीवन जीने का आशीष देते हैं। माना जाता है कि इससे शीतलता सदा बरकरार रहती है। इस दिन घरों में चूल्हा नहीं जलाने की भी परंपरा रही है। बताया कि यह मूल रूप से पर्यावरण व स्वच्छता से जुड़ा है।  

चैत्र प्रतिपदा पर संस्कार भारती ने फहराया भगवा ध्वज

मुजफ्फरपुर : चैत्र नवरात्र व हिंदू नववर्ष को लेकर मंगलवार को संस्कार भारती महानगर इकाई के सदस्यों ने भगवा ध्वज फहराया। साथ ही संध्या में दीप जलाकर खुशी का इजहार किया। महानगर अध्यक्ष डॉ.ममता रानी ने बताया कि सरकार के गाइडलाइन को देखते हुए चैत्र प्रतिपदा के कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया है। संस्था के सभी सदस्यों ने अपने घर और प्रतिष्ठान पर भगवा ध्वज फहराया है। कहा कि ध्वज और दीप जलता देख नई पीढ़ी अपने संस्कृति को जानेगी। महानगर सचिव प्रभात कुमार ने बताया कि ध्वज के साथ साथ अपने अपने घर पर रंग-बिरंगे रंगोली भी बनाई गई। ध्वज फहराने और दीप जलाने वालों में प्रांतीय महामंत्री संजय कुमार, उमाशंकर केसरी, गणेश प्रसाद ङ्क्षसह, सुबोध कुमार, उषा किरण, संजीव ङ्क्षसह, राजेश कुमार, डीके ङ्क्षसह, राजेश चौधरी, ङ्क्षप्रसु मोदी, राकेश कुमार, शिवशंकर मिश्रा, प्रीती ठाकुर, जितेन्द्र कुमार, डॉ.एचएन भारद्वाज आदि शामिल रहे।

आर्य समाज की ओर से समारोह

मुजफ्फरपुर : चैत्र-शुक्ल प्रतिपदा-2078 के मौके पर मंगलवार को आर्य समाज की ओर से स्थापना दिवस सह नववर्ष पर समारोह का आयोजन किया गया। कोरोना के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए विशेष हवन और यज्ञ किया गया। प्रधान विमल किशोर उप्पल ने ध्वजारोहन किया। मंत्री मनोज कुमार चौधरी, विजय ओझा ने सभी सदस्यों को नववर्ष की शुभकामनाएं दीं। इस दौरान 300 ओम ध्वज का वितरण किया गया। मौके पर प्रदीप कुमार, नीतू कुमारी, समरजीत कुमार, गोपाल आर्य, रमेश दानापुरी, डॉ.व्यासनंदन शास्त्री, राजीव रंजन, डॉ.महेश चंद्र प्रसाद, सतीश चंद्र प्रसाद समेत अन्य मौजूद थे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.