अलग-अलग छापेमारी में शराब जब्‍त, पश्‍च‍िम चंपारण ज‍िले में कई धंधेबाजों पर कार्रवाई

West Champaran भैरोगंज में शराब के साथ दंपती समेत तीन गिरफ्तार एसपी के आदेश पर पुलिस चला रही अभियान सूबे में पूर्ण शराबबंदी के बावजूद शराब बेचने और पीने वाले काफी सक्र‍िय हैं। ऐसे लोगों पर पुल‍िस कर रही कार्रवाई।

Dharmendra Kumar SinghMon, 06 Dec 2021 04:51 PM (IST)
पश्‍च‍िम चंपारण में शराब बेचने वालों पर कार्रवाई। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

पश्‍च‍िम चंपारण (भैरोगंज), जासं। स्थानीय पुलिस ने छापेमारी कर शराब के साथ दंपती को गिरफ्तार किया है। वहीं एक शराबी को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। थानाध्यक्ष लालबाबू कुमार ने बताया कि शराब धंधेबाजों के बारे में सूचना मिली थी। सूचना मिलते ही एएसआइ विजेंद्र चौधरी के नेतृत्व में पुलिस टीम को नुनियापट्टी भेजा गया। टीम ने शराब धंधेबाजों को पकडऩे में सफलता हासिल की। इस कार्रवाई में नुनियापट्टी निवासी नन्हे चौधरी पिता शंकर चौधरी एवं उसकी पत्नी मीना देवी को तेरह लीटर देशी शराब एवं एक सौ लीटर अर्धनिर्मित शराब के साथ गिरफ्तार किया गया। मौके से शराब निर्माण में उपयोगी महत्वपूर्ण उपकरण भी बरामद हुए । अर्धनिर्मित शराब को विनिष्ट किया गया है । वहीं भैरोगंज बाजार निवासी शुभम श्रीवास्तव को शराब के नशे में हंगामा करते हुए गिरफ्तार किया गया है । उसकी मेडिकल जांच में शराब सेवन की पुष्टि हुई है।

शराब के धंधे में लिप्त महिला धंधेबाज गिरफ्तार, प्राथमिकी दर्ज

पिपरासी। थाना क्षेत्र स्थित मंझरिया पंचायत के बहरी स्थान गांव में पुलिस ने छापेमारी कर एक महिला धंधेबाज के घर से छह लीटर चुलाई शराब बरामद किया है। उसके खिलाफ पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेज दिया है।

थानाध्यक्ष राजीव कुमार सिन्हा ने बताया कि बाहरी स्थान गांव निवासी विगनी देवी छह लीटर चुलाई शराब पाउच में भर कर रखी थी। सूचना पर उसके घर से गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में सोमवार को भेज दिया गया। वहीं मुन्ना साहनी, रिखमुनी बीन, मनोज बीन के घर के घर से बरामद अद्र्ध निर्मित देसी शराब को नष्ट कर दिया गया। तीनों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

धंधेबाजों के खिलाफ पुलिस ने चलाया सर्च अभियान

गोबद्र्धना। मुख्यमंत्री के शराबबंदी को लेकर कड़ा तेवर थाना क्षेत्र में साफ दिखने को मिल रहा है। शराब धंधेबाजों के विरुद्ध स्थानीय पुलिस का छापेमारी अभियान जारी रहा। कई खेतों में शराब की भ_ियों को ध्वस्त किया गया। लांकि,धंधेबाज को गिरफ्तार नहीं किया गया। थानाध्यक्ष शंभू मांझी के नेतृत्व में पदाधिकारियों ने करीब दो गांवों के आसपास के गन्ने में छापेमारी की। छापेमारी दल चौकीदार को भी शामिल किया गया। उनसे पहले आसपास के क्षेत्र में शराब निर्माण की सूचना जुटाई गई। इस क्रम में पुलिस ने गन्ने के खेत के कई शराब भ_ियों को ध्वस्त किया। शराबबंदी के बाद धंधेबाजों के लिए गन्ने के खेत सेफ जोन बन गए। शराबबंदी को सफल बनाने में जहां एक तरफ पुलिस की बेचैनी बढ़ गई है। वहीं दूसरी तरफ शराब धंधेबाज भी काफी सतर्क हो गए हैं। हालांकि पुलिस के लगातार कड़े तेवर ने धंधेबाजों के होश उड़ चुके है। पुलिस गांवों में स्थानीय स्तर के व्यक्तियों से संपर्क में लेकर धंधेबा•ाों को ङ्क्षचहित कर रही है। फिर उनके विरुद्ध शिकंजा कस रही है। गुप्त सूचना एकत्र करके तुरंत कार्रवाई कर रही है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.