प्राण प्रतिष्ठा यज्ञ को निकाली कलश यात्रा

प्राण प्रतिष्ठा यज्ञ को निकाली कलश यात्रा

मनियारी क्षेत्र के परेया बथना गाव स्थित प्राचीन राम जानकी मंदिर में सोमवार को राम-सीता लक्ष्मण हनुमान की तीन दिवसीय प्राण प्रतिष्ठा महायज्ञ के लिए 151 कन्याओं ने हाथी घोड़े व बैंड बाजे के साथ यज्ञाचार्य अमन कुमार झा की देखरेख में भव्य कलश शोभा यात्रा निकाली।

Publish Date:Tue, 24 Nov 2020 01:23 AM (IST) Author: Jagran

मुजफ्फरपुर : मनियारी क्षेत्र के परेया बथना गाव स्थित प्राचीन राम जानकी मंदिर में सोमवार को राम-सीता, लक्ष्मण, हनुमान की तीन दिवसीय प्राण प्रतिष्ठा महायज्ञ के लिए 151 कन्याओं ने हाथी, घोड़े व बैंड बाजे के साथ यज्ञाचार्य अमन कुमार झा की देखरेख में भव्य कलश शोभा यात्रा निकाली। श्रद्धालु तीन किलोमीटर दूर स्थित कदाने नदी तट पहुंचे जहा वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ कलश लेकर कन्याएं पुन: राम सीता के जय घोष लगाते मंदिर परिसर पहुंचीं। यज्ञ यजमान उमेश कुंवर, श्यामा कुंवर ने वैदिक मंत्रोउच्चरण कर महायज्ञ प्रारंभ किया। उसके बाद श्रीराम- सीता के जयघोष से पूरा इलाका भक्तिमय हो उठा। मौके पर मुखिया प्रेमचंद सहनी, चंदन कुमार भास्कर, अभिजीत कुमार,समेत हजारों श्रद्धालु थे।

विवाह कीर्तन में झूम उठे श्रद्धालु

सकरा प्रखंड की विष्णुपुर बघनगरी पंचायत के बनवरीपुर टोले के धर्मलाल ब्रह्मस्थान परिसर में आयोजित दो दिवसीय अष्टयाम यज्ञ के समापन पर रविवार की रात राम विवाह कीर्तन का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में ढोली बाजार से सटे द्वारिकापुर की गायिका ज्योति मिश्रा ने राम विवाह तथा कलेवा की संगीतमय नाट्य प्रस्तुति से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसमें रौनक कुमार ने राम का और प्रियाशु कुमार ने लक्ष्मण व झमन कुमार ने सीता का किरदार निभाया। मौके पर राजीव मिश्रा, रौशन कुमार, मुन्ना मिश्रा, विकाश मिश्रा, रूपेश मिश्रा आदि ने व्यवस्था को सुचारु रखने में सहयोग किया। बता दें कि अष्टयाम का आयोजन दो दिनों तक रहा जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने भाग लिया। इसमें 10 कीर्तन मंडली ने भाग लिया था। ग्रामीणों की मदद से आयोजकों ने आयोजन को सफल बनाया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.