IRCTC,INDIAN RAILWAYS: प्लेटफार्म टिकट की कीमत 80% तक कम, जानें नई दर

IRCTC INDIAN RAILWAYS भारतीय रेल ने यात्री व उनके स्वजनों को राहत देने की घोषणा की है। जहां एक ओर ट्रेनों के स्पेशल स्टेट्स को हटाया जा रहा है वहीं दूसरी ओर प्लेटफार्म टिकट की कीमत को भी कम कर दिया गया है।

Ajit KumarPublish:Sat, 27 Nov 2021 01:13 PM (IST) Updated:Sat, 27 Nov 2021 01:51 PM (IST)
IRCTC,INDIAN RAILWAYS: प्लेटफार्म टिकट की कीमत 80% तक कम, जानें नई दर
IRCTC,INDIAN RAILWAYS: प्लेटफार्म टिकट की कीमत 80% तक कम, जानें नई दर

मुजफ्फरपुर, आनलाइन डेस्क। रेलवे ने यात्रियों और उनके स्वजन को राहत देने का फैसला किया है। एक बड़ी घोषणा करते हुए प्लेटफार्म टिकट की कीमत को फिर से 10 रुपये कर दिया है। इसे बढ़ाकर 50 कर दिया गया था। मुजफ्फरपुर समेत तमाम रेलवे स्टेशनों पर यह व्यवस्था लागू भी हो गई है। अब अाप अपने स्वजनों को छोड़ने के लिए बिना किसी परेशानी के जा सकते हैं। रेलवे की नई व्यवस्था लागू होने के बाद से लाेगों ने राहत की सांस ली है। हालांकि रेलवे की ओर से यह कहा गया था कि दिवाली व छठ काे देखते हुए प्रशासन ने प्लेटफार्म टिकट की दर को बढ़ाने का निर्णय लिया था। जिससे प्लेटफार्म पर अनावश्यक भीड़ न हो और यात्रियों को कम से कम परेशानी हो। खासकर, कोविड जांच में। क्योंकि उस समय बाहर से आने वाले सभी यात्रियों की अनिवार्य रूप से जांच की जाती थी। 

इस व्यवस्था को लागू भी कर दिया गया

रेलवे की ओर से यात्रियों व उनके स्वजनों को राहत देने का क्रम जारी है। एक ओर जहां कोविड स्पेशल स्टेट्स को हटा लिया गया, वहीं अब प्लेटफार्म टिकट की दर को भी 80 प्रतिशत तक कम कर दिया गया। यह बहुत ही राहत की बात है। इस व्यवस्था को लागू भी कर दिया गया है। जिसके बाद लोग अपने स्वजनों को ट्रेन तक छोड़ने के लिए आराम से जा पा रहे हैं। इससे पहले ट्रेनों के स्पेशल वाले टैग को हटाने के साथ ही अधिक किराया लेेने का सिलसिला भी खत्म हो गया है। हालांकि जिन्होंने पहले बुकिंग करा रखी थी, उन्हें थोड़ी निराशा जरूर हाथ लगी है।

खाना भी परोसा जाएगा

भारतीय रेल के लिए टिकट व खानपान की व्यवस्था करने वाली कंपनी आइआरसीटीसी ने भी एक नई घोषणा की है। अब यात्रियों को कोविड सावधानियों के साथ ही खाना भी परोसा जाएगा। ऐसे में लंबी दूरी तय करने वालों की परेशानी कम हो जाएगी। कुछ ट्रनों में तो इसको बहाल कर दिया गया है। अन्य में इसको शुरू करने की प्रक्रिया चल रही है। कोरोना काल में संक्रमण की आशंका को देखतेे हुए इस व्यवस्था को बंद कर दिया गया था।