IRCTC,INDIAN RAILWAYS: डेढ़ साल बाद मुजफ्फरपुर से गुजरी न्यू जलपाईगुड़ी-नई दिल्ली एक्सप्रेस

2523 न्यू जलपाईगुड़ी-नई दिल्ली एक्सप्रेस ट्रेन शनिवार को मुजफ्फरपुर से गुजरी। राजधानी की तरह यह सुपरफास्ट ट्रेन है। यह ट्रेन सप्ताह में दो दिन ही चलाई जाती है। कोहरे के कारण डाउन वैशाली एक्सप्रेस सहित अन्य एक्सप्रेस ट्रेन जंक्शन पर लेट पहुंची।

Ajit KumarSun, 28 Nov 2021 08:49 AM (IST)
यह ट्रेन सप्ताह में दो दिन ही चलाई जाती है।

मुजफ्फरपुर,जासं। कोरोना काल में डेढ़ साल पहले बंद हुई 12523 न्यू जलपाईगुड़ी-नई दिल्ली एक्सप्रेस ट्रेन शनिवार को मुजफ्फरपुर से गुजरी। राजधानी की तरह यह सुपरफास्ट ट्रेन है। यह ट्रेन सप्ताह में दो दिन ही चलाई जाती है। इस ट्रेन के चलने से यात्रियों ने राहत सांस ली है। मुजफ्फरपुर में यह ट्रेन दो नंबर प्लेटफार्म से गुजरी।

कोहरे के कारण कई ट्रेनें हुईं लेट

कोहरे के कारण डाउन वैशाली एक्सप्रेस सहित अन्य एक्सप्रेस ट्रेन जंक्शन पर लेट पहुंची। 12554 डाउन वैशाली एक्सप्रेस डेढ़ घंटे बाद साढ़े चार बजे मुजफ्फरपुर जंक्शन पर पहुंची। वहीं 14674 शहीद एक्सप्रेस एक घंटे, आम्रपाली डेढ़ तथा पोरबंदर क्लोन एक्सप्रेस दो घंटे लेट पहुंची।

मालगाड़ी बेपटरी मामले में रेल कर्मियों से पूछताछ

मुजफ्फरपुर : नारायणपुर स्टेशन के समीप 15 नवंबर को हुई मालगाड़ी बेपटरी मामले में शनिवार को कई रेलकर्मियों से पूछताछ हुई। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सोनपुर रेल मंडल के असिस्टेंट डिविजनल सेफ्टी आफिसर अनिल कुमार पहुंचे। जंक्शन के स्टेशन अधीक्षक कार्यालय में सभी कर्मियों का बयान बारी-बारी से रिकार्ड किया गया। इस दौरान सीनियर सेक्शन इंजीनियर पथ मनीष कुमार, सीनियर सेक्शन इंजीनियर सिग्नल मो. एम आलम, सीनियर सेक्शन इंजीनियर समाडि नारायणपुर अनंत अजय कुमार, बीके मधुकर, एके ठाकुर, संतोष कुमार सीनियर सेक्शन इंजीनियर सिग्नल, नारायणपुर, उप स्टेशन अधीक्षक नारायणपुर अनंत विनय कुमार, शंटमैन नारायणपुर अनंत,कांटा वाला नारायणपुर अनंत निलेश कुमार, यार्ड मास्टर नारायणपुर अनंत राकेश कुमार, मालगाड़ी के लोको पायलट बिरल कुमार राम, सहायक लोको पायलट ज्योति बसु, कांटा वाला नारायणपुर अनंत, नरेश राय आदि से पूछताछ की गई। अधिकारियों ने इस मामले में कुछ भी बताने से इन्कार किया है।

बता दें कि 15 नवंबर को दोपहर में गिट्टी से लदी मालगाड़ी को यार्ड में ले जाने के लिए शंङ्क्षटग की जा रही थी। रेल अधिकारियों का कहना था कि कुछ प्वाइंट््स वहां खुला रह गया था। इसके कारण शंङ्क्षटग के दौरान मालगाड़ी के दो डिब्बे पटरी से उतर गए थे। इसके कारण कई ट्रेनें बाधित हुई थी। शंङ्क्षटग लाइन से दोनों डिब्बों को हटाने में रेल अधिकारियों को रात 12 बज गए थे। उसके बाद लाइन चालू हुआ था। इसके पहले पिछले महीने भी शंङ्क्षटग के दौरान नारायणपुर में इसी तरह की घटना घटी थी।  

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.