नेपाल से आने वाले भारतीयों को लग रहा कोरोना का टीका, पश्‍च‍िम चंपारण में टीम सक्र‍िय

पश्‍च‍िम चंपारण में टीकाकरण कार्य तेजी से जारी है। यहां से नेपाल करीब होने की वजह से सीमा पारकर आने वालों की संख्‍या काफी ज्‍यादा है। हालांक‍ि टीकाकरण के ल‍िए स्‍वास्‍थ्‍य व‍िभाग की टीम जुटी है। भिखनाठोरी में खोला गया है टीकाकरण केंद्र।

Dharmendra Kumar SinghSat, 27 Nov 2021 03:42 PM (IST)
पश्‍च‍िम चंपारण के भिखनाठोरी में टीका लगाते स्वास्थ्य कर्मी। जागरण

पश्‍च‍िम चंपारण (गौनाहा), जासं। प्रखंड में कोविड टीकाकरण के शत-प्रतिशत लक्ष्य को हासिल करने के लिए स्वास्थ्य विभाग संकल्पित है। पल्स पोलियो अभियान की तर्ज पर कोरोना टीका के लिए हर घर दस्तक दिया जा रहा है। भिखनाठोरी में टीका केंद्र नियमित रूप से कार्य कर रहा है। अभियान में स्वास्थ्य कर्मी जुटे हुए हैं। स्वास्थ्य प्रबंधक शैलेंद्र कुमार स‍िंह ने बताया कि 16 से 20 एवं 22 से 27 नवम्बर को नियमित टीकाकरण सहित कोविड टीकाकरण किया जा रहा है, जिसमें लगभग आठ हजार लोगों को टीका लगाया गया। ग्रामीण क्षेत्रों के लिए मोबाइल टीकाकरण टीम गठित की गई है। प्रत्येक मोबाइल टीम में एक वैरिफायर एवं एक वैक्सीनेटर हैं। उन्होंने बताया की बॉर्डर के भिखनाठोरी में भी टीकाकारण केंद्र खोला गया है। ताकि नेपाल से आ रहे भारतीय लोगों को टीका केंद्र पर लगाया जाए। इससे कोरोना को फैलने से रोकने में मदद मिलेगी। प्रभारी चिकित्सक डॉ शशि कुमार ने बताया कि 27 तक टीकाकरण कार्य पूरा कर लिया गया। जिसका समय दूसरा डोज का है, उन्हें दिया जा रहा है।

अंतिम दिन चलाया गया डोर टू डोर वैक्सीनेशन कार्यक्रम

रामनगर। शनिवार को अंतिम दिन 57 टीमों के साथ पल्स पोलियो अभियान की तरह डोर टू डोर कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम चलाया गया। रविवार से डोर टू डोर इस कार्यक्रम को बंद कर दिया जाएगा।

इसकी जानकारी पीएचसी के लेखापाल सह प्रभारी स्वास्थ्य प्रबंधक रंजन कुमार ने दी। बताया कि छह हजार डोज के साथ यह अभियान चलाया गया है। जिसको लेकर टीमें नगर के साथ ग्रामीण क्षेत्रों में काम कर रही हैं। इधर हरिनगर रेलवे स्टेशन का शिविर प्रतिदिन नौ बजे सुबह से रात के नौ बजे तक संचालित होगा। इसमें किसी तरह का फेरबदल नहीं किया गया है। उल्लेखनीय है कि कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण का कार्य लगातार चल रहा है। इसी कड़ी में छूटे लोगों को घर तक सुविधा देने के लिए विगत 16 नवंबर से डोर टू डोर अभियान चलाया गया। जिसका लाभ भी हजारों लाभुकों को मिला है। इसमें प्रथम के साथ दूसरी डोज वाले भी शामिल हैं। प्रभारी प्रबंधक ने बताया कि हर घर दस्तक के इस कार्यक्रम को रविवार से बंद कर दिया जाएगा। अब इसके लिए कोई दूसरा प्लान तैयार किया जा रहा है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.