दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

मुजफ्फरपुर में म्यूकोरमाइकोसिस व ब्लैक फंगस से निपटने के लिए व्यवस्था की गई, आपके यहां?

यह फंगल इंफेक्शन है जो किसी व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता कम होने पर होती है। डेमो

सिविल सर्जन डॉ.एसके चौधरी ने कहा कि सभी सरकारी व निजी अस्पतालों को निर्देश दिया गया है कि इस फंगस की चपेट में कोई मरीज आता है तो इसकी जानकारी सिविल सर्जन कार्यालय को दें। इसको लेकर जिले में अलर्ट जारी किया गया है।

Ajit KumarSun, 16 May 2021 09:22 AM (IST)

मुजफ्फरपुर, जासं। कोरोना की दूसरी लहर के बीच कई लोग म्यूकोरमाइकोसिस व ब्लैक फंगस के इंफेक्शन की चपेट में आ रहे हैं। इसको लेकर जिले में अलर्ट जारी किया गया है। सिविल सर्जन डॉ.एसके चौधरी ने कहा कि सभी सरकारी व निजी अस्पतालों को निर्देश दिया गया है कि इस फंगस की चपेट में कोई मरीज आता है तो इसकी जानकारी सिविल सर्जन कार्यालय को दें। 

सभी पीएचसी व सीएचसी प्रभारियों को कहा गया है कि जो कोरोना से पीडि़त मरीज स्वस्थ हुए हैं। उनमें इनके कोई लक्षण दिखते हैं तो तुरंत उन्हें एसकेएमसीएच व सदर अस्पताल रेफर करें। उन्होंने कहा कि यह फंगल इंफेक्शन है जो किसी व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता कम होने पर होती है। कोरोना और डायबिटीज के मरीजों में यह इंफेक्शन ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है। इस संक्रमण को ब्लैक फंगस के नाम से भी जाना जाता है।

इधर इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) ने इसे लेकर गाइडलाइन जारी की है। इसमें कहा है कि म्यूकोरमाइकोसिस फंगल इंफेक्शन है जो शरीर में बहुत तेजी से फैलता है। यह नाक, आंख, दिमाग, फेफड़े या फिर स्किन पर भी हो सकता है। कोरोना के दौरान या फिर ठीक हो चुके मरीजों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है। इसलिए वे आसानी से इसकी चपेट में आ रहे हैं। 

मुख्यमंत्री ने एसकेएमसीएच में इलाज का लिया फीडबैक

मुजफ्फरपुर : कोरोना कहर के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एसकेएमसीएच में कोरोना और एईएस के इलाज व्यवस्था की वर्चुअल समीक्षा की। डीएम ने मुख्यमंत्री के समक्ष रिपोर्ट पेश की। एसकेएमसीएच अधीक्षक डॉ. बीएस झा ने मेडिकल कॉलेज में कोरोना इलाज की व्यवस्था से अवगत कराया। सीएम ने अधीक्षक को कोरोना के साथ एईएस की तैयारी पूरी रखने का निर्देश दिया। सीएम ने कहा कि कोरोना के साथ-साथ एईएस की तैयारी पूरी रखें। मुजफ्फरपुर में 15 मई के बाद एईएस के मामले अधिक संख्या में आने लगते हैं। सीएम वर्चुअल माध्यम से कोरोना वार्ड की व्यवस्था से अवगत हुए। वार्ड और मरीजों को देखने के बाद अधीक्षक से कोरोना मरीजों की और बेहतर व्यवस्था करने को कहा। चिकित्सकों को निर्देश दिया कि सभी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मरीजों का इलाज करें। मौके पर प्रभारी मंत्री मुकेश सहनी, डीएम प्रणव कुमार, एसकेएमसीएच अधीक्षक डॉ बीएस झा समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.