बिहार के तीन शहरों में पति, पत्नी और बेटे छापते हैं नकली नोट, मुजफ्फरपुर में मास्टरमाइंड गिरफ्तार, जानिए कहां से मंगाते हैं कागज

नकली नोट के धंधे का मास्टरमाइंड है पताही का अजय उसकी पत्नी दो पुत्र व रिश्तेदार नकली नोट छापने व खपाने में था शामिल नेपाल से मंगाता था छपाई का विशेष कागज नौ गिरफ्तार सात लाख 50 हजार नकली व 50 हजार असली भारतीय नोट बरामद

Dharmendra Kumar SinghMon, 02 Aug 2021 09:33 PM (IST)
मुजफ्फरपुर में नकली नोटों का धंधा करने वाला मास्‍टर माइंड ग‍िरफ्तार। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

मुजफ्फरपुर, जासं। पूर्वी चंपारण जिले के पताही थाना के रतन शायर गांव का अजय महतो नकली भारतीय नोट के धंधेबाज गिरोह का मास्टरमांइड है। वह नोट को स्कैन कर उसकी छपाई करता था। इस धंधे में उसकी पत्नी व दो पुत्र भी शामिल था। सीतामढ़ी के मेजरगंज निवासी अपने रिश्तेदार से भी नोटों की छपाई कराता था। नोट की छपाई के लिए विशेष कागज नेपाल से मंगाता था। उसके तार नेपाल के जाली नोट के धंधेबाजों से जुड़े हैं। शराब माफियाओं से गिरोह की मिलीभगत थी। पंचायत चुनाव में बड़े पैमाने पर नकली नोट खपाने की साजिश थी। पुलिस की विशेष टीम ने अजय, उसकी पत्नी व दो पुत्रों सहित गिरोह में शामिल नौ आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इसके पास से सात लाख 50 हजार नकली व 50 हजार असली भारतीय मुद्रा,आठ मोबाइल व स्कार्पियो गाड़ी बरामद की गई है। इसकी जानकारी सिटी एसपी राजेश कुमार ने सोमवार अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में दी। मौके पर एएसपी पश्चिमी सैयद इमरान मसूद भी उपस्थित थे।

भाड़े की कार से निकलता था सपरिवार 

नकली नोट खपाने में अजय महतो का शातिराना अंदाज था। किसी को शक नहीं हो इसके लिए वह परिवार के साथ नकली नोट खपाने निर्धारित स्थान पर जाता था। वह हमेशा लक्जरी गाड़ी ही भाड़ा पर लेता था। उसमें पत्नी सुनीता देवी व बच्चों के साथ घर से निकलता था।

सौ के नकली नोट की ही करता था छपाई 

बाजार में आसानी से खप जाए इसके लिए अजय सौ रुपये मूल्य के नकली भारतीय नोट की ही छपाई करता था। पुलिस ने उसके गिरोह से सौ रुपये मूल्य के नोट का 75 बंडल बरामद किया है। ये सभी नोट नई सीरीज के हैं। स्कैन कर वह नकली नोटों की छपाई करता था। नोट छपाई करने वाला स्कैनर व प्रिंटर की बरामदगी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

अजय उसकी पत्नी, दो पुत्रों व चालक सहित गिरोह में शामिल नौ आरोपित गिरफ्तार : मोतीपुर थानाध्यक्ष ने क्षेत्र में नकली नोट के प्रचलन की सूचना दी। इस सूचना के आधार वरीय पुलिस अधीक्षक जयंतकांत ने सिटी एसपी राजेश कुमार के नेतृत्व में विशेष टीम गठित की। रविवार की दोपहर में इस टीम को सूचना मिली कि नकली नोट खपाने वाला गिरोह लक्जरी वाहन से जिला में प्रवेश करने वाला है। विशेष टीम ने एनएच-28 पर मोतीपुर के रतनपुरा के निकट एक संदिग्ध वाहन को पकड़ा। इसमें सवार दंपती व चालक को पकड़ा गया। तलाशी लेने पर इसके पास से एक लाख रुपये का नकली नोट बरामद किया गया।

पूछताछ में नकली नोट के धंधे के पूरे नेटवर्क की जानकारी मिली। मुजफ्फरपुर, मोतिहारी व सीतामढ़ी जिले में छापेमारी कर एक महिला सहित कुल नौ लोगों को पकड़ा गया। इसके पास से कुल सात लाख 50 हजार रुपये मूल्य के नकली भारतीय नोट व 50 हजार असली भारतीय नोट बरामद हुआ। यह गिरोह एक लाख के नकली नोट के बदले पचास हजार रुपये असली भारतीय नोट का सौदा करता था। गिरफ्तार किए जाने वालों में पूर्वी चंपारण जिले के पताही थाना के रतन शायर गांव का अजय महतो, उसकी पत्नी सुनीता देवी, पुत्र मधुरंजन कुमार, चितरंजन कुमार, राकेश महतो, राजा कुमार सिंह, बाराशंकर गांव का गोलू सिंह, शेखपुरवा का मनोज कुमार व मुजफ्फरपुर जिला के गायघाट थाना के रामनगर गांव का मंजीत कुमार सिंह शामिल है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.