हाय रे फूटी क‍िस्‍मत... ससुराल पहुंचने के दो घंटे बाद ही विधवा हो गई दुल्हन, बेतिया में चौंकाने वाली घटना

West Champaran साठी के बसंतपुर छरदवाली के मनीष गिरि की योगापट्टी में हुई थी शादी सोमवार रात योगापट्टी के अमैठिया में चंदा कुमारी से हुई थी शादी मंगलवार की सुबह छह बजे पहुंची ससुराल तब पति की तबीयत हुई खराब जीएमसीएच में सुबह आठ बजे हुई मौत।

Dharmendra Kumar SinghPublish:Tue, 30 Nov 2021 02:06 PM (IST) Updated:Tue, 30 Nov 2021 02:06 PM (IST)
हाय रे फूटी क‍िस्‍मत... ससुराल पहुंचने के दो घंटे बाद ही विधवा हो गई दुल्हन, बेतिया में चौंकाने वाली घटना
हाय रे फूटी क‍िस्‍मत... ससुराल पहुंचने के दो घंटे बाद ही विधवा हो गई दुल्हन, बेतिया में चौंकाने वाली घटना

बेतिया (पचं), जासं। साठी के छरदवाली बसंतपुर में ससुराल पहुंचने के दो घंटे बाद ही दुल्हन चंदा कुमारी विधवा हो गयी। उनके पति मनीष कुमार गिरि की मौत जीएमसीएच में हो गयी। मृतक मनीष छरदवाली निवासी चंदेश्वर गिरि के इकलौते पुत्र थे। मृतक के परिवारिक सूत्रों के अनुसार, मनीष की बारात सोमवार की संध्या योगापट्टी के अमैठिया गांव गयी थी। बारात जब गांव में पहुंची तो मनीष की तबीयत अचानक खराब हो गयी। उसे चक्कर आ गया, लेकिन कुछ देर बाद मनीष की तबीयत ठीक हो गयी। रात में शादी की रस्म पूरी हुई। सुबह चार बजे दुल्हा-दुल्हन की विदाई हुई। मनीष अपनी पत्नी चंदा को लेकर सुबह छह बजे अपने घर पहुंचा। गृह प्रवेश होने के बाद मनीष की तबीयत अचानक खराब हो गयी। परिजन उसे लेकर गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मनीष के मृत घोषित होते ही शादी की खुशियां मातम में बदल गयी। मनीष की मां व परिजनों का रोकर बुरा हाल था। वहीं, दुल्हन के गांव अमैठिया में भी मातम छा गया।

नेपाल में मच्छरगांवा के जेसीबी चालक की मौत

योगापट्टी। प्रखंड के मच्छरगावां गांव निवासी जेसीबी चालक जितन साह की मौत नेपाल में ट्रैक्टर के इंजन में दबकर हो गई है। घटना शनिवार की शाम की बताई जा रही है। मृत युवक योगापटटी प्रखंड के मच्छरगांवा बाजार गांव निवासी घनश्याम साह के 19 वर्षीय पुत्र जीतन कुमार है। सूचना पर मृत युवक के परिजनों ने नेपाल पहुंचकर कागजी प्रक्रिया पूरी करने व शव को नेपाल में अन्त्यपरीक्षण कराने के बाद सोमवार को अपने पैतृक गांव लाए व उसका अंतिम संस्कार किया। मृत युवक के पिता घनश्याम साह व चाचा बद्री साह ने बताया कि उसका पुत्र जीतन कुछ महीनों से पड़ोसी देश नेपाल के जनकपुर धाम गया था। वहां धेखुना गांव में खेत से जेसीबी से मिट्टी काटकर ट्रैक्टर ट्रेलर पर मिट्टी रखने का कार्य कर रहा था। उसी दौरान ट्रैक्टर चालक से ट्रैक्टर मिट्टी लेकर बाहर नहीं निकलने में दिक्कत हो रही थी। उसे देख जितन ट्रैक्टर चालक को हटाकर खुद ट्रैक्टर चलाने लगा व ट्रैक्टर को बाहर निकालने लगा। उसी क्रम में ट्रैक्टर का इंजन पलट गया और उसका शरीर ट्रैक्टर के इंजन से दब गया। वहां से उसे एक निजी क्लिनिक में ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।