मुजफ्फरपुर में तालाब में नहाने के दौरान सात की मौत, शव बरामद होते ही मचा कोहराम

मुजफ्फरपुर [जेएनएन]। बिहार के मुजफ्फरपुर स्थित सकरा व मीनापुर प्रखंडों में शुक्रवार को स्नान के दौरान पोखर एवं बागमती की पुरानी धारा में डूबने से सात बच्चों की मौत हो गई। इससे सकरा के विशुनपुर बघनगरी और मीनापुर के मदारीपुर कर्ण पंचायत के रामपुर हरि दक्षिणी गांव में कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। उधर, डीएम आलोक रंजन घोष के निर्देश पर सरकारी प्रावधान के अनुसार मृतक के परिजन को चार-चार लाख रुपये दिए गए हैं।

सकरा में चौर में चराने गईं थीं बकरी

विशनपुर बघनगरी गांव की झगरू साह की पुत्री खुशबू कुमारी (17), मो. मंजूर की पुत्री रजिया खातून(13), मो. नथुनी की पुत्री अजमेरी खातून(13) तथा मो. शमीउल्लाह की पुत्री नाजनी खातून(13) बकरी चराने चौर में गईं थीं। सभी बकरियों को चौर में छोड़कर को-ऑपरेटिव के निकट स्थित पोखर के पास आ गईं। बगल में ही बकरी चरा रहीं दो और किशोरी व आठ वर्षीय गोलू भी उनके साथ हो चला। पोखर में सबसे पहले खुशबू उतरी। उसके पीछे-पीछे तीनों भी नहाने चली गई। जबकि, दो किशोरियां व गोलू सीढ़ी पर बैठ गए।

खुशबू को बचाने में तीन सहेलियां भी डूबीं

 गोलू ने बताया कि चारों स्नान करते-करते ज्यादा पानी में चली गईं। इस क्रम में खुशबू डूबने लगी। उसे बचाने के लिए रजिया, अजमेरी व नाजनी आगे बढ़ीं, खुशबू के पकड़ लेने से सभी पानी में डूब गईं। सीढ़ी के नजदीक बैठी किशोरियां वहां से चली गई। जबकि, गोलू सबको आवाज लगाता रहा। उसे ऐसा लगा कि चारों पानी में डुबकी लगाकर छुप गई हैं।

काफी देर तक जब वे नहीं निकलीं तो उसने शोर मचाया। शोर सुनकर पहुंचे ग्रामीणों ने पानी में छलांग लगाकर चारों के शव को निकाला। सूचना पर सीओ, मुखिया पति व सकरा थानाध्यक्ष घटनास्थल पर पहुंचे।

मीनापुर में तीनों मृतक एक ही परिवार के

उधर, मीनापुर थाना क्षेत्र के रामपुर हरि दक्षिणी में बागमती नदी की पुरानी धारा में नहाने के दौरान एक ही परिवार के तीन भाई-बहनों की डूबकर मौत हो गई। मृतकों में गरीब मंडल के पुत्र अभिषेक कुमार (12), पुत्री मुस्कान कुमारी(10) एवं शिवानी कुमारी (8) थीं।

खाना खाकर गए थे स्कूल

बताया गया कि भाई-बहन सुबह खाना खाकर बगल के उत्क्रमित मध्य विद्यालय छपरा हरिजन स्कूल में पढऩे गए थे। अभिषेक सातवीं, मुस्कान छठीं और शिवानी पांचवीं कक्षा में पढ़ती थी। तीनों टिफिन के वक्त बस्ता लेकर स्कूल से निकल गए। रास्ते में विनोद महतो की दुकान से बिस्कुट खरीदा। सभी घर नहीं जाकर नदी की तरफ चले गए। नदी किनारे जा कर तीनों ने अपने कपड़े व बस्ता निकालकर वहां रख दिया और स्नान करने पानी में चले गए।

अभिषेक को बचाने में डूबीं दोनों बहनें भी

इस क्रम में अभिषेक गहरे पानी में चला गया और डूबने लगा। उसने शोर मचाया तो उसे डूबते देख दोनों बहनों ने उसे पकडऩे की कोशिश की। इस दौरान वह भी गहरे पानी में चली गईं। डूब रहे तीनों की रोने-चिल्लाने की आवाज सुनकर राहगीरों ने शोर मचाया। जब तक ग्रामीण वहां पहुंचते तब तक तीनों डूब गए थे।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.