पारू में उसती पंचायत के सिंगाही व माधोपुर बुजुर्ग के 250 घरों में घुसा पानी

पारू प्रखंड की उसती पंचायत के सिंगाही व माधोपुर बुजुर्ग गाव के करीब ढाई सौ घरों में बाया नदी का पानी घुस जाने से लोग बेघर होने को मजबूर हो गए हैं।

JagranSat, 28 Aug 2021 03:30 AM (IST)
पारू में उसती पंचायत के सिंगाही व माधोपुर बुजुर्ग के 250 घरों में घुसा पानी

मुजफ्फरपुर। पारू प्रखंड की उसती पंचायत के सिंगाही व माधोपुर बुजुर्ग गाव के करीब ढाई सौ घरों में बाया नदी का पानी घुस जाने से लोग बेघर होने को मजबूर हो गए हैं। बाढ़ पीड़ित परिवार के लोग तिरहुत तटबंध पर तंबू लगाकर रात गुजारने को विवश हैं। सामाजिक कार्यकर्ता अरुण कुमार राय ने डीएम व सीओ को आवेदन देकर अविलंब राहत कार्य चलाए जाने की माग की है।

बाढ़ पीड़ितों ने बताया कि एक ओर गंडक नदी का जलस्तर बढ़ रहा है, जिससे पशुओं के चारा की समस्या है। वहीं, दूसरी ओर बाया नदी का जलस्तर बढ़ने से चौर होते पानी घरों में घुस गया है। चारों तरफ पानी रहने से शौच की गंभीर समस्या बन गई है। सरकारी स्तर पर कोई राहत कार्य नहीं चलाए जाने से भोजन के साथ पशुओं के चारा की भी व्यवस्था नहीं होने से परेशानी बढ़ती जा रही है। मुखिया मंजू देवी ने सीओ से मिल कर बाढ़ पीड़ित की हालत से अवगत कराते हुए राहत कार्य चलाए जाने की माग की है।

मुखिया को तिरपाल देने की शिकायत : मगुरहिया पंचायत के बाढ़ पीड़ित परिवारों के लिए अंचल कार्यालय से मुखिया विकास रंजन तिवारी को तिरपाल दिए जाने को लेकर पूर्व मुखिया नरेश सहनी ने आचार संहिता उलंघन करने का आरोप लगाते हुए डीएम से शिकायत की है। उन्होंने जांच कर कार्रवाई की मांग की है।

औराई में बाढ़ से 26 पंचायतें प्रभावित : औराई में बागमती, लखनदेई व मनुषमारा नदी के जलस्तर में वृद्धि जारी है। वहीं बारिश से औराई दक्षिणी क्षेत्र में जलजमाव ने बाढ़ का रूप ले लिया है। बागमती लखनदेई व मनुषमारा नदी के साथ ही जलजमाव से प्रखंड के 26 पंचायत पूर्णरूप से बाढ़ प्रभावित हो गई हैं। करीब 5000 घरों में बाढ़ व बारिश का पानी प्रवेश कर गया है। दर्जनों सड़कें जलमग्न है। अधिकतर गावों में जलजमाव है। उत्तरी व पूर्वी 16 पंचायतों में बाढ़ की स्थिति विषम हो गई है। त्राहिमाम की स्थिति बनी है। मुखिया संघ अध्यक्ष अनमोल ठाकुर, अंजू देवी, पंकज पाडे, सीमा देवी, राम स्वार्थ राम, रघुनंदन मिश्र, दिग्विजय सिंह, मनोज सहनी आदि ने प्रखंड को बाढ़ प्रभावित क्षेत्र घोषित कर मुआवजा की सरकार से माग की है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.