Darbhanga news: निरीक्षण में गायब मिले बिरौल सीएचसी के पांच चिकित्सक, स्पष्टीकरण तलब

Darbhanga news सीएस ने किया टीकाकरण महाभियान का निरीक्षण लापरवाही के लिए सीएचसी प्रभारी को लगाई फटकार कोरोना संक्रमण को लेकर चल रहा टीकाकरण महाभियान कोरोन संक्रमण से बचाव के ल‍िए गाइडलाइन का पालन जरूरी ।

Dharmendra Kumar SinghSun, 05 Dec 2021 05:27 PM (IST)
बिरौल में सीएचसी के निरीक्षण के बाद स्वास्थ्यकर्मियों के साथ बैठक करते सीएस डॉ. अनिल कुमार। जागरण

दरभंगा (बिरौल), जासं। कोविड-19 टीकाकरण महाभियान के दौरान सिविल सर्जन डा. अनिल कुमार ने बिरौल सीएचसी का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान बिना सूचना के पांच चिकित्सक गायब मिले। इस स्थिति को देख सिविल सर्जन का गुस्सा भड़क गया। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. फूल कुमार मिश्र को जमकर फटकार लगाते हुए व्यवस्था में सुधार लाने का सख्त निर्देश दिया। वहीं सिविल सर्जन ने गायब चिकित्सक डा. अमरेश कुमार साह, डा. अविनाश कुमार, डा. संगीत कुमार, डा. संजय कुमार एवं डा. प्रतिभा झा से स्पष्टीकरण पूछा है। दो दिनों में स्पष्टीकरण का जवाब देने का निर्देश दिया है। इसके बाद निर्माणाधीन अनुमंडल अस्पताल भवन का भी मुआयना किया। निर्माण कार्य में कमी को अपनी डायरी में दर्ज किया। बता दें कि सिविल सर्जन कोविड-19 टीकाकरण महाअभियान के तहत स्थिति का जायजा लेने बिरौल पहुंचे थे। इस क्रम में सीएचसी का निरीक्षण किया। इस दौरान एक नहीं पांच चिकित्सक बिना सूचना के गायब पाए गए। अस्प्ताल सूत्रों की बात माने तो कई ऐसे चिकित्सक है जो बिना सूचना के हमेशा गायब रहते हैं। वही टीका महाभियान के तहत 25 पंचायतों में कुल 25 सौ लोगों का टीकाकरण किया गया। मौके पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. फूल कुमार मिश्र,स्वास्थ्य प्रबंधक एसएम फारूकी समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।

अनुमंडल कार्यालय के कई लिपिक इधर से उधर

दरभंगा। सदर एसडीओ स्पर्श गुप्ता ने अनुमंडल कार्यालय में पदस्थापित लिपिकों को बेहतर प्रदर्शन के लिए इधर से उधर कर दिया है। बताया है कि अनुमंडल कार्यालय में वर्षों से एक लिपिक के पास कई विभागों की फाइलें थीं। कई मामलों में समय से कार्यों को निष्पादन नहीं किया जा रहा था। आमलोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। अनुमंडल कार्यालय के प्रधान लिपिक अख्तर अली को सभी शाखाओं के प्रधान लिपिक का प्रभार सौंपा गया है। इनके अनुपस्थित रहने पर अशोक कुमार पासवान काम करेंगे। देव नारायण यादव को अनुमंडल न्यायालय, अशोक कुमार पासवान को स्थापना, मनोज कुमार को अनुमंडल न्यायालय, संविदा लिपिक अरूण कुमार महतो गौशाला कार्य, अजीत कुमार सूचना का अधिकार, नंद किशोर चौधरी निर्वाचन एवं मानवाधिकार में भेजे गए हैं। इनके अनुपस्थित रहने पर शंकर मोहन दास इनका काम देखेंगे। इनके अलावा भी कई लोग इधर से उधर किए गए हैं। एसडीओ स्पर्श गुप्ता ने बताया कि सभी लिपिकों को आदेश दिया गया है कि आवंटित संचिकाओं का प्रभार 12 दिसंबर तक ले लेंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.