पटना से आकर जिलों में चोरी करने वाले पांच गिरफ्तार

मुजफ्फरपुर। पटना के अपराधी जिलों में चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। वे ऑटो में सवार होकर आते हैं और चोरी कर वापस लौट जाते है। इसका उद्भेदन सोमवार की रात सदर थाने की पुलिस द्वारा मझौलिया मोहल्ले के पास से पांच शातिरों को गिरफ्तार करने के बाद हुआ। उनके पास से एक ऑटो, दस पुड़िया गांजा, एक खंती, बड़ी ब्लेड, पिलास, पांच मोबाइल समेत अन्य सामान बरामद किया गया। गिरफ्तारों में पटना के दानापुर तकिया मोहल्ला के शहजादा इरशाद, भोला उर्फ शमीन, चिंटू कुमार, दीघा के अखिलेश कुमार व रवि रौशन सहनी हैं। शहजादा पहले भी राजीव नगर थाना क्षेत्र में चोरी के आरोप में जेल जा चुका है। स्थानीय लाइनर की तलाश

पूछताछ में पता चला है कि सदर थाना क्षेत्र में कोई स्थानीय लाइनर है, जो इन सभी को सोमवार की रात किसी घटना को अंजाम देने के लिए बुलाया था। सदर थानाध्यक्ष राकेश कुमार ने बताया कि लाइनर का पता चल गया है। उसकी तलाश की जा रही है। पकड़े गए पांच अपराधियों में दो हेल्पर का काम करते हैं। घर से कहकर निकला था आ रहे हैं थोड़ी देर में

गिरफ्तार रवि रौशन की मां का रो-रो कर बुरा हाल है। वह थानाध्यक्ष से बार-बार अपने पुत्र को छोड़ने का आग्रह कर रही थी। कह रही थी कि बेटा गलत संगति में फंस गया है। शाम को कह कर निकला था कि थोड़ी देर में आ रहे हैं। वह बदमाशों के साथ मुजफ्फरपुर आ गया। उसने बताया कि वह दाई का काम करके बच्चों को पाल रही है। उसके पिता बाहर रहते हैं।

शौक ने बनाया शातिर

सभी शातिरो को गरीबी में रहना अच्छा नहीं लग रहा था। महंगे शौक को पूरा करने के लिए शहजादा ने गिरोह बना लिया। वह साथियों के साथ मिलकर मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, समस्तीपुर व अन्य जिलों में घटना को अंजाम देने लगा। अब तक आसपास के जिलों में दर्जनों घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। एसएसपी हरप्रीत कौर ने गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ की जा रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.