जबरन शारीरिक संबंध बनाने की महिला ने दर्ज कराई प्राथमिकी

सकरा थाना के बरियारपुर ओपी अंतर्गत एक गांव में महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाने का मामला सामने आया है।

JagranPublish:Sun, 28 Nov 2021 01:34 AM (IST) Updated:Sun, 28 Nov 2021 01:34 AM (IST)
जबरन शारीरिक संबंध बनाने की  महिला ने दर्ज कराई प्राथमिकी
जबरन शारीरिक संबंध बनाने की महिला ने दर्ज कराई प्राथमिकी

मुजफ्फरपुर : सकरा थाना के बरियारपुर ओपी अंतर्गत एक गांव में महिला के साथ शारीरिक संबंध बनाने का मामला सामने आया है। इसे लेकर पीड़िता ने महिला थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। इसमें बरियारपुर ओपी राजापाकड़ के रंधीर कुमार को आरोपित किया है। महिला थानाध्यक्ष ने बताया कि कांड दर्ज कर मामले की जांच कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस को दिए आवेदन में पीड़िता ने बताया कि 19 नवंबर की रात आरोपित रंधीर राय महिला के घर पर आया और जबरन साथ ले जाने लगा। उसके शोर मचाने पर स्थानीय लोग जुटे। इसके बाद आरोपित अपनी बाइक छोड़कर वहां से भाग निकला। महिला ने पुलिस को बताया कि करीब चार साल पूर्व रंधीर राय के खेत में जनेरा काटने गई थी। उस समय आरोपित ने जबरन शारीरिक संबंध बना लिया। जब उसने हल्ला किया तो आरोपित ने पांच कटठा जमीन व पांच हजार रुपये प्रति महीने देने का प्रलोभन दिया। इसके बाद भी बराबर महिला के साथ आरोपित संबंध बनाता रहा। इस बीच दो लाख से अधिक रुपये जमीन के नाम पर ले लिया और शारीरिक संबंध बनाता रहा। इसी बीच फिर 19 नवंबर की रात वह उसके घर पर आया और जबरन उठाकर ले जाने लगा। उसके शोर मचाने पर स्थानीय लोग जुटे तो आरोपित भाग निकला।

महिला का अश्लील फोटो वायरल करने वाला गिरफ्तार

सरैया थाना क्षेत्र के एक गाव की दो बच्चों की मा का अश्लील फोटो खींच कर इंटरनेट मीडिया पर वायरल करने वाले युवक को सरैया पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। थाने में पीड़िता द्वारा दर्ज प्राथमिकी में कहा गया कि नीतीश ने 23 नवंबर को स्नान करने के दौरान चुपके से मेरा फोटो मोबाइल से खींच लिया। फिर मुझसे ब्लैकमेल करने लगा। इसकी शिकायत मैंने अपने पति से की। मेरे पति ने जब उसके स्वजन से इसकी शिकायत की तो उसने मेरा फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया। इस संबंध में थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया कि आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। जबकि पीड़िता को धारा 164 के तहत बयान दर्ज करने हेतु मजिस्ट्रेट के पास महिला पुलिस के संरक्षण में भेजा गया।