पश्चिम चंपारण में चिकित्सक व पुलिस पदाधिकारी में बकझक, मरीजों का इलाज प्रभावित

एएसआइ और चिकित्सक के बीच हुए विवाद की जानकारी लेते अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. केबीएन स‍िंह। जागरण

अभियुक्तों की जांच कार्यरत चिकित्सक डॉ. विजय कुमार द्वारा नहीं किया गया तो श्री शाही ने अपनी नाराजगी जताई। इसके उपरांत चिकित्सक स्वास्थ्य कर्मियों और पुलिस पदाधिकारियों में बकझक होने लगी। विवाद बढ़ता देख प्रभारी उपाधीक्षक को सूचना दी गई।

Dharmendra Kumar SinghSun, 16 May 2021 05:13 PM (IST)

पश्चिम चंपारण, जासं। रविवार को अनुमंडलीय अस्पताल में कुछ अभियुक्तों की कोविड जांच के लिए नगर थाना के पुलिस पदाधिकारी पहुंचे। एएसआइ अशोक कुमार शाही अभियुक्तों को लेकर अस्पताल पहुंचे थे। इस दौरान काफी देर प्रतीक्षा के बाद जब सूचना पर पहुंचे प्रभारी उपाधीक्षक डॉ. के.बी.एन. ङ्क्षसह ने दोनों पक्षों की बात सुनी। इस दौरान चिकित्सक और कर्मियों ने स्पष्ट चेतावदी दी कि जबतक एएसआइ पर कार्रवाई नहीं होगी, वे किसी का इलाज नहीं करेंगे। सूचना पर जदयू जिलाध्यक्ष सह एमएलसी भीष्म सहनी, सभापति प्रतिनिधि फिरोज आलम, डीसीएलआर मो. इमरान, बीडीओ कुमार प्रशांत, नगर थानाध्यक्ष आनंद कुमार आदि मौके पर पहुंचे। इसके बाद दोनों पक्षों को बिठाकर मामले का समाधान किया गया। इस दौरान आधा घंटा तक मरीज उनके स्वजन परेशान रहे। मामले के समाधान के बाद दोनों पक्षों ने राहत की सांस ली।

600 लोगों को लगा टीका, 145 की जांच में 24 संक्रमित मिले

बीते तीन दिनों से 45 वर्ष से ऊपर वाले लोगों का टीकाकरण बंद है। रविवार को भी इस आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीन नहीं दी गई। वहीं 18 से लेकर 44 वर्ष के बीच के लोगों को रविवार को दो केंद्रों पर टीका दिया गया। वहीं इसकी संख्या बढ़ाकर अब 600 कर दिया गया है। नगर के पार्वती कन्या विद्यालय में 300 व पीएचसी में भी इतने हीं संख्या में लोगों को टीका दिया गया। इसके लिए पहले से पंजीकृत लोगों को प्रथम डोज का टीका पड़ा। इधर 45 वर्ष से ऊपर के कई लोग प्रथम व दूसरे डोज के वैक्सीन के लिए पूछकर वापस लौट गएं। इधर टेङ्क्षस्टग का कार्य भी रविवार को किया गया। बीते शनिवार को कुल 145 लोगों के एंटीजेन किट से हुए जांच में 24 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं।

सभी संक्रमित पीएचसी के कैंप में हुए जांच में सामने आए हैं। जबकि रेलवे स्टेशन पर 19 लोगों के जांच में एक भी संक्रमण का मामला सामने नहीं आया है। हालांकि आरटी-पीसीआर के टेस्ट का रिपोर्ट अभी फिलहाल नहीं मिल सका है। इधर बीते शनिवार को कुल 200 लोगों को वैक्सीन देना था। जिसमें 190 लोग हीं केंद्र पर पहुंच सकें। पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. चंद्र भूषण ने बताया कि दोनों स्थलों पर टीकाकरण का कार्य स्वास्थ्य कर्मियों के देखरेख में सुचारू रूप से चल रहा है। 45 वर्ष से अधिक के लोगों के लिए वैक्सीन प्राप्त नहीं होने से यह कार्य बंद है। मिलते हीं इसे चालू कर दिया जाएगा। संवाद प्रेषण तक पीएचसी में 240 लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है। जबकि दूसरे केंद्र पार्वती कन्या विद्यालय में कितने लोगों को टीका दिया गया है। इसकी जानकारी नहीं मिल सकी है। वहीं जांच का कार्य भी संवाद प्रेषण तक जारी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.