मुजफ्फरपुर के कालीबारी में जलजमाव से नाराजगी, आंदोलन की चेतावनी

बरसात शुरू होने के एक सप्ताह बाद भी तीन पोखरिया रोड नाले की उड़ाही नगर निगम द्वारा नहीं की गई है। इससे इस मार्ग की कई गलियों में एक सप्ताह से बारिश का पानी जमा है। निगम एवं वार्ड पार्षद को कहने के बाद भी उड़ाही नहीं कराई जा रही।

Ajit KumarSat, 19 Jun 2021 11:44 AM (IST)
कालीबारी के साथ-साथ मिठनपुरा के कई इलाकों में बारिश का पानी जमा है। फोटो- जागरण

मुजफ्फरपुर, जासं। अभी बरसात ने ठीक से अपना रंग भी नहीं दिखाया है, लेकिन कई मोहल्ले जलजमाव के शिकार हो गए हंै। जल निकासी की व्यवस्था नहीं होने से भारी बारिश होने पर इन मोहल्लों की स्थिति और खराब हो जाएगी। बरसात शुरू होने के एक सप्ताह बाद भी तीन पोखरिया रोड नाले की उड़ाही नगर निगम द्वारा नहीं की गई है। इससे इस मार्ग से जूड़ी कई गलियों में एक सप्ताह से बारिश का पानी जमा है। निगम एवं वार्ड पार्षद को कहने के बाद भी नाले की उड़ाही नहीं कराई जा रही है। जलजमाव से स्थानीय लोगों में भारी नाराजगी है। मोहल्लावासी एवं सामाजिक कार्यकर्ता योगेश कुमार टिंकू ने कहा कि निगम के खिलाफ सड़क पर उतरेंगे। अनशन पर बैठेंगे। कालीबारी के साथ-साथ मिठनपुरा के कई इलाकों में बारिश का पानी जमा है। इसे निकालने के कोई उपाय नहीं किए जा रहे हैैं। लोगों का कहना है कि निगम द्वारा जलनिकासी की व्यवस्था नहीं की गई तो उनको तीन माह तक जलजमाव के बीच रहना होगा। मिठनपुरा दास कॉलोनी की हालत सबसे खराब है। वहीं पड़ाव पोखर लेन में भी जलजमाव की समस्या बनी है। वहां से जमा पानी नहीं निकल रहा है। इससे लोग नाराज दिख रहे हैं।

शहर में जलजमाव व दयनीय हालत के खिलाफ माले का प्रदर्शन

मुजफ्फरपुर : भाकपा-माले ने शहर में जलजमाव व हर रास्ते की खुदाई से बनी दयनीय हालत को लेकर प्रदर्शन किया। हरिसभा चौक स्थित पार्टी कार्यालय में झंडा-बैनर व पोस्टर के साथ प्रदर्शन में माले नगर सचिव सूरज कुमार ङ्क्षसह, इंसाफ मंच के राज्य उपाध्यक्ष व पार्टी नेता आफताब आलम, फहद जमां, अकबर आजम, संतलाल पासवान, सत्यम, मुफ्ती इरफान, नौशाद आलम, शफीकुर रहमान, नसीम अहमद, फैजान रहमान ने नगर निगम व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ नारेबाजी की। माले सचिव कृष्णमोहन ने कहा कि पटना-दिल्ली की सरकार वर्षों से केवल स्मार्ट सिटी का झुनझुना बजा रही है। शहर से जलजमाव दूर करने के प्रति न नगर निगम गंभीर है और न सरकार के मंत्री व प्रशासन के अधिकारी। योजनाओं के नाम पर लूट व भ्रष्टाचार चरम पर है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.