top menutop menutop menu

शिक्षकों पर प्रशासन की दंडनात्मक कार्रवाई पर लगे रोक

मुजफ्फरपुर : बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के आह्वान पर बुधवार को समाहरणलय में जुटे सैकड़ों शिक्षकों ने धरना देकर सरकार और प्रशासन के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। इस अवसर पर संघ के राज्य उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा कि, सरकार और प्रशासन के इशारे पर शिक्षकों पर दंडनात्मक कार्रवाई की जा रही है। इसपर रोक लगनी चाहिए। इंटर परीक्षा के उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन केंद्रों पर मारपीट की घटी घटना में जिलाध्यक्ष, सचिव सहित अन्य शिक्षकों के नाम एफआइआर दर्ज करने की निंदा की गई। अन्य वक्ताओं ने कहा कि मूल्यांकन निदेशक के द्वारा वार्ता के लिए बुलाया गया और एफआइआर की सूची में उन लोगों का नाम शामिल कर दिया गया। बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ ऐसी किसी हरकत को स्वीकार नहीं कर सकता। सत्यता की जांच किए बगैर कार्रवाई करना उचित नहीं। आदोलनकारी साथियों को संघ की नीति और निर्देशों के अनुसार ही आचरण करने का आग्रह किया जाता है। कहा कि आदोलन पूर्णत: अहिंसक और शातिपूर्ण है। जुल्म चाहे जो भी होगा, हाथ किसी पर नहीं उठेगा। प्रशासन और सरकार को आगाह कर चेतावनी दी गई। कहा कि कार्रवाई से आंदोलनकारियों का मनोबल टूटता है। लेकिन शिक्षकों का मनोबल टूटने वाला नहीं। प्रशासन दो दिनों के अंदर एफआइआर वापस लेने की अपील की है, अन्यथा उग्र आंदोलन की चेतावनी दी गई है। किसी भी हालत में शिक्षक नहीं डरेंगे। धरना सभा में तिरहुत स्नातक के प्रत्याशी समाजसेवी भूषण झा, एलएस कॉलेज के प्राचार्य व प्रत्याशी डॉ. ओपी राय, पूर्व विधान पार्षद नरेद्र कुमार सहित बड़ी संख्या में शिक्षकगण मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.