सकरा में राहत सामग्री नहीं मिलने पर मुखिया के खिलाफ प्रदर्शन

सकरा में कदाने नदी कीबाढ़ से त्रस्त बाजीबूजुर्ग पंचायत के ग्रामीणों ने मुखिया के खिलाफ प्रदर्शन किया।

JagranSun, 29 Aug 2021 03:30 AM (IST)
सकरा में राहत सामग्री नहीं मिलने पर मुखिया के खिलाफ प्रदर्शन

मुजफ्फरपुर। सकरा में कदाने नदी कीबाढ़ से त्रस्त बाजीबूजुर्ग पंचायत के ग्रामीणों ने मुखिया के खिलाफ प्रदर्शन किया। ग्रामीण अमिताभ राजन, रामशरोवर दास, मुनचुन कुमार, शिवजी दास, प्रमिला देवी, महेश कुमार, रानी कुमारी, उíमला देवी, रंजीत कुमार, राजू कुमार, शिवचरन दास ने कहा कि पंचायत का वार्ड तीन व चार चारों तरफ से पानी से घिरा है। 10 दिनों से लोग परेशान हैं, लेकिन मुखिया व अन्य जनप्रतिनिधियों द्वारा कोई सुविधा मुहैया नहीं कराई जा रही है। ग्रामीण मयानंदनी देवी ने कहा कि कदाने नदी के पानी से पूरी पंचायत जलमग्न है। पंचायत प्रतिनिधि ग्रामीणों की सूध नहीं ले रहे हैं।

कदाने नदी ने मचाई तबाही, ऊंचे स्थानों पर शरण ले रहे लोग : इस बार कदाने नदी तबाही मचा रही है। दर्जनों पंचायतें जलमग्न हो गई हैं। बीते साल बूढ़ी गंडक नदी का बाध टूटने से सकरा व मुरौल प्रखंड में आई बाढ़ से भारी तबाही हुई थी। इस बार लगातार हो रही बारिश से दोनों प्रखंडों की दर्जनों पंचायतें जलमग्न हो चुकी हैं। दर्जनों गाव के पास तटबंध के ऊपर से पानी का बहाव तेजी से हो रहा है। इससे डेढ दर्जन पंचायतें बाढ़ की चपेट में है। लोग ऊचे स्थानों पर शरण ले रहे हैं। लहुरना पुल डायवर्सन, रहीमपुर रकसा ,बसंतपुर गौस, गनीपुर बेझा गाव आदि जगहों पर निजी नाविक मनमाना पैसा लेकर लोगों को पानी पार करा रहे हैं। विभिन्न विद्यालयों में बाढ़ का पानी भर जाने से पठन पाठन बाधित है। पूर्व जिप सदस्य प्रो. फैयाज अहमद व नुजहत प्रवीण ने भी प्रशासन से मेहसी, बसंतपुर गौस, सिराजाबाद, गनीपुर बेझा, मनोहरपट्टी, दोनवा, भठंडी, झिटकाही गांवों में राहत उपलब्ध कराने की मांग की है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.