Darbhanga News: झूल रहे थे ताले, गायब थे श‍िक्षक, पहुंचे प्रोवीसी तो दौड़े-दौड़े बगैर चाबी के ही पहुंचे प्राचार्य, जान‍िए फ‍िर क्‍या हुआ

Darbhanga News प्रोवीसी के औचक निरीक्षण में कई चौकाने वाले वाक्‍या सामने आए। ज‍िन कमरों में क्‍लास चलना चाह‍िए उनमें झूल रहे थे ताले गायब थे शिक्षक। कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति ने किया निरीक्षण। छपरा के दो संस्कृत कालेजों का किया गया औचक निरीक्षण।

Dharmendra Kumar SinghMon, 29 Nov 2021 01:24 PM (IST)
औचक न‍िरीक्षण के दौरान ताला बंद देख प्रोवीसी हैरान। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

दरभंगा, जासं। ब‍िहार के छपरा में दरभंगा से औचक न‍िरीक्षण के ल‍िए पहुंची टीम के सामने एक चौकाने वाला मामला सामने आया।कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति प्रो. सिद्धार्थ शंकर सिंह ने छपरा के दो संस्कृत कालेजों का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण से कालेजों में हड़कंप मच गया। निरीक्षण के दौरान प्रोवीसी सबसे पहले गुरुकुल संस्कृत कालेज मिहिया पहुंचे। कालेज के प्रभारी प्रधानाचार्य डा. धर्मेंद्र कुमार सिंह समेत चार शिक्षक व दो शिक्षकेतर कर्मी कालेज से गायब थे। अनुपस्थित अन्य शिक्षकों में वीरेंद्र झा, शशिकांत झा, आशुतोष कुमार शामिल हैं। चपरासी व रात्रि प्रहरी भी नहीं थे।

इसी बीच जब प्रभारी प्राचार्य को प्रोवीसी के आने की सूचना मिली तो वे दौड़े-दौड़े कालेज तो आए, लेकिन आलमीरा आदि की चाबी घर ही छोड़ आए। जब उनसे छात्र उपस्थिति पंजी व अवकाश पंजी दिखाने को कहा गया तो उन्होंने बड़े ही साफगोई से कहा कि हड़बड़ी में वे उस आलमीरा की चाबी लेना भूल गए जिसमें उक्त पंजी वगैरह रखी हुई है। हद तो तब हो गयी जब प्रोवीसी कालेज का निरीक्षण कर रहे थे तो कालेज परिसर में जानवर विचरण कर रहे थे। इसके बाद प्रोवीसी ने छपरा के भरत मिश्र संस्कृत कालेज पहुंचे तो वे हतप्रभ रह गए। कालेज के मुख्य द्वार पर ताले झूल रहे थे। कोई कर्मी वहां नहीं थे। संपर्क करने पर प्रधानाचार्या ने बताया कि वे मातृ शोक में अवकाश पर हैं। निरीक्षण के बाद प्रोवीसी ने कहा कि दोनों कालेजों के बारे में वे कुलपति औ कुलाधिपति को अपनी स्पष्ट अनुशंसा करेंगे।

सीबीएसई दसवीं के मुख्य विषयों की टर्म परीक्षा मंगलवार से

दरभंगा। सीबीएसई दसवीं कक्षा के मुख्य विषयों की पहली टर्म परीक्षा मंगलवार से शुरू होगी। पहले दिन ही सामाजिक अध्ययन विषय की परीक्षा होगी। विज्ञान विषय की परीक्षा 2 को और गणित विषय की परीक्षा चार दिसंबर को आयोजित की जाएगी। जबकि 12वीं कक्षा के मुख्य विषयों की पहली टर्म परीक्षा 3 दिसंबर को अंग्रेजी विषय के साथ आरंभ होगी। परीक्षा के लिए सीबीएसई ने पर्यवेक्षक तैनात किए हैं। पहली बार ओएमआर शीट पर होनेवाली इस परीक्षा के लिए कोरोना गाइडलाइन के अनुपालन का सख्ती से निर्देश दिया गया है। सीबीएसई की सिटी को-ऑर्डिनेटर और डीएवी पब्लिक स्कूल सारा मोहनपुर की प्राचार्य श्रीमती सविता ने बताया कि परीक्षा की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए परीक्षा आयोजित की जाएगी। 30 नवंबर को सामाजिक अध्ययन दो दिसंबर को विज्ञान. 4 दिसंबर को गणित. 9 दिसंबर को ङ्क्षहदी और 11 दिसंबर को अंग्रेजी विषय की परीक्षा होगी। मुख्य विषयों की परीक्षा में उमडऩे वाली परीक्षार्थियो की भीड़ को देखते हुए विद्यालयों को सभी आवश्यक प्रबंध करने का निर्देश दिया गया है। जीसस एंड मेरी एकेडमी, दरभंगा पब्लिक स्कूल दिल्ली मोड़, रोज पब्लिक स्कूल, दिल्ली पब्लिक स्कूल कादिराबादबाद, पब्लिक स्कूल बेला, वुडबाइन मॉडर्न स्कूल, डीएवी पब्लिक स्कूल, हैरो इंग्लिश स्कूल, डान बास्को स्कूल समेत शहर के लगभग सभी स्कूलों को परीक्षा केंद्र बनाया गया है। जिन स्कूलों में परीक्षार्थियों की संख्या कम है उन स्कूलों को टर्म परीक्षा के लिए शहर के कुछ स्कूलों के साथ जोड़ दिया गया है। स्कूलों के परीक्षार्थियों की संख्या को देखते हुए बोर्ड ने शहर के बड़े स्कूलों के साथ जोड़कर उनकी परीक्षा लेने का निर्देश दिया है। 12वीं कक्षा की परीक्षा 3 दिसंबर को अंग्रेजी विषय के साथ शुरू होगी। गणित की परीक्षा 6 को .भौतिकी की परीक्षा 10 को. रसायन की 14 को और जीव विज्ञान की परीक्षा 18 दिसंबर को आयोजित की जाएगी। हालांकि विद्यालय प्रबंधन ने पहले ही परीक्षा के लिए कई बार मॉक टेस्ट किए हैं ।लेकिन अभी भी उनमें प्रश्न पत्र डाउनलोड कर परीक्षार्थियों के बीच निर्धारित समय में वितरण करने में को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.