Darbhanga: सिंहवाड़ा अंचल कार्यालय के डाटा ऑपरेटर की सेवा समाप्त, जानिए क्यों डीएम ने की कार्रवाई

सिंहवाड़ा अंचल कार्यालय के डाटा ऑपरेटर की सेवा समाप्त।

सिंहवाड़ा अंचल में लेन-देन वीडियो वायरल होने में जांच रिपोर्ट के बाद डीएम ने की कार्रवाई डाटा ऑपरेटर के सेवा को किया गया समाप्त सिमरी हल्का के राजस्व कर्मी पर प्रपत्र क गठित। 11 फरवरी 2021 को वायरल हुआ था वीडियो।

Murari KumarSun, 18 Apr 2021 01:48 PM (IST)

दरभंगा, जागरण संवाददाता। सिंहवाड़ा अंचल कार्यालय के दाखिल-खारिज डाटा ऑपरेटर कक्ष में हुए लेन-देन के वायरल वीडियो में दो कर्मियों पर कार्रवाई की गई है। इसमें डाटा ऑपरेटर के सेवा को समाप्त कर दिया गया है। जबकि, मुंशी के माध्यम से लेने-देने करने वाले राजस्व कर्मचारी को चिन्हित कर प्रपत्र क गठित करने का निर्देश दिया गया है। यह कार्रवाई डीएम डॉ. त्याग राजन एसएम ने जांच रिपोर्ट के आधार पर की है। 11 फरवरी 2020 को लेन-देन की वायरल वीडियो सामने आने के बाद डीएम ने पूरे मामले की जांच करने के लिए सदर के भूमि सुधार उप समाहर्ता मो. सादुल हसन खां को निर्देश दिया था। दो माह तक की गई जांच में रिपोर्ट समर्पित होते ही डीएम ने अंतिम कार्रवाई पर मुहर लगा दी। जांच में लेन-देन की बात सत्य पाई गई है। दाखिल-खारिज डाटा ऑपरेटर ललन कुमार मेहता अपने कक्ष में एक राजस्व कर्मी के मुंशी सुरेश यादव से मोटी रकम ले रहे थे। जिसका वीडियो वायरल हुआ था।

 इस मामले को डीएम ने गंभीरता से लिया। ताकि, अंचल कार्यालय की छवि बरकरार रहे। डीएम ने सिंहवाड़ा सीओ को दोषी राजस्व कर्मी को चिन्हित कर कार्रवाई करने और अंचल कार्यालय में अन्य राजस्व कर्मचारी के मुंशी के आने पर रोक लगाने को कहा है। इसके लिए कार्यालय में कड़ी निगरानी करने को कहा है। वहीं, बिहार स्टेट इलेक्ट्रॉनिक डेवलपमेंट कारपोरेशन लिमिटेड के प्रबंध निदेशक को पत्राचार कर डाटा ऑपरेटर ललन मेहता को वापस कर दिए जाने की जानकारी दी गई है। पत्र में कहा गया है कि अंचल कार्यालय के एक कमरे लेन-देन की गई। जो जांच में सत्य पाया गया। इससे प्रखंड और जिला कार्यालय की छवि धूमिल हुई है।

वीडियो वायरल होने के बाद मचा था हड़कंप 

अंचल कार्यालय में आरटीपीएस काउंटर है। जहां दाखिल खारिज से लेकर अन्य सभी तरहों के आवेदनों के लिए काउंटर की व्यवस्था है। लेकिन, विगत कुछ माह से उस काउंटर से दाखिल-खारिज से संबंधित काउंटर काे हटाकर बीस सूत्री अध्यक्ष के कार्यालय में गैर ढंग से खोल दिया गया। जहां रुपये के लेन-देन का एक वीडियो वायरल हुआ है। इसमें सिमरी राजस्व कर्मचारी कार्यालय के गैर कर्मी सुरेश यादव से डाटा इंट्री ऑपरेटर ललन कुमार मेहता मोटी रकम ले रहें हैं, यह वीडियो वायरल होने के बाद अंचल और प्रखंड कार्यालय के पदाधिकारी भी आमने-सामने आ गए। जनप्रतिनिधियों ने इस मामले को तूल दे दिया। मीडिया में खबर आने के बाद प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मचइस वीडियो में दाखिल-खारिज का रेट बढ़ाने से संबंधित हुए बातचीत को दिखाया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.