सीतामढ़ी में बढ़ने लगी आपराधिक वारदात तो शहर का हाल जानने खुद निकलीं DM

सीतामढ़ी में शहर का जायजा लेतीं डीएम अभिलाषा कुमारी शर्मा। जागरण

Sitamarhi News सीमामढ़ी जिले में एक सप्ताह में कई आपराधिक घटनाएं हुई। बढ़ती घटनाओं को देखते हुए जिलाधिकारी अभिलाषा कुमारी शर्मा देर रात शहर का जायजा लेने निकलीं। देर रात आते-जाते कई वाहनों की उन्होंने जांच करवाई।

Dharmendra Kumar SinghSat, 27 Feb 2021 11:02 AM (IST)

सीतामढ़ी,  जासं । जिले में लगातार होने रही आपराधिक वारदातों से आम लोगों का कानून-व्यवस्था से भरोसा उठने लगा है। पुलिस प्रशासन की कार्यशैली से लोगों में काफी नाराजगी है। लोगों में भरोसा जगाने के लिए जिलाधिकारी अभिलाषा कुमारी शर्मा एकबार फिर सड़कों पर निकलीं। शुक्रवार रात उन्होंने शहर के कई इलाकों में घूम-घूमकर विधि-व्यवस्था का जायजा लिया। देर रात आते-जाते कई वाहनों की उन्होंने जांच करवाई। उनमें बैठे लोगों से स्वयं पूछताछ की। आपातकालीन सेवा के लिए रात में खुली दवा दुकानों के दुकानदारों से बात कर सुरक्षा-व्यवस्था का फीडबैक लिया। अस्पताल मोड़ से लेकर सीतामढ़ी बाजार में पैदल चलकर विधि-व्यवस्था का जायजा लेती रहीं। शंकर चौक, कारगिल चौक, किरण चौक, सीतामढ़ी बाजार, गौशाला चौक, मधुबन आदि का भ्रमण कर विधि-व्यवस्था का जायजा लिया। कई जगहों पर रुककर रात्रि गश्ती दल से भी फीडबैक लिया। जांच के दौरान जिलाधिकारी को देखकर जब कई लोगों ने मास्क पहनना शुरू किया तो उन्होंने कोरोना संक्रमण एवं मास्क के महत्व को लेकर उनको जागरूक किया। कई वाहन चालक एवं राहगीर ने जिलाधिकारी से वादा किया कि अब हमेशा मास्क का उपयोग करेंगे एवं दुसरो को भी प्रेरित करेंगे। इधर, व्यवसायियों का कहना है कि डीएम-एसपी कई बार रात में शहर का मुआयना कर चुके मगर हालात में सुधार नहीं दिख रहा। पिछले 36 घंटे के दौरान गोलीबारी की छह घटनाएं हुईं। जिनमें मेजरगंज में एक दारोगा शहीद हुए। शहर में एक व्यवसायी व बेलसंड में एक अधेड़ की मौत हो गई। परिहार में दो लोगों को गोली मारी तो सोनबरसा में युवक को गोली मारी गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.