रुपये गबन करने वाले मुजफ्फरपुर के बैंक मैनेजर व एक अन्य पर 17 साल बाद चार्जशीट

औराई थाना क्षेत्र के गंगुली गांव की सुवंशी देवी ने 14 जनवरी 2004 को बैंक मैनेजर सहित अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसमें उसने कहा था कि आरोपितों ने फर्जीवाड़ा कर उसकी तस्वीर अंगूठे के निशान व कागजात का प्रयोग ऋण की राशि की निकासी कर ली।

Ajit KumarThu, 16 Sep 2021 09:38 AM (IST)
बैंक के तीन अन्य कर्मियों को भी बनाया गया था आरोपित।

मुजफ्फरपुर, जासं। औराई थाना क्षेत्र के धरहरवा गांव स्थित बैंक आफ बड़ौदा की शाखा के तत्कालीन मैनेजर वीके सिंह व घनश्यामपुर निवासी लालो कुंवर के खिलाफ पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल किया है। यह चार्जशीट 17 साल पुराने मामले में दाखिल की गई है। दोनों के विरुद्ध ग्रामीणों के नाम पर फर्जी तरीके से ऋण की राशि निकासी कर गबन करने का आरोप है। इस मामले में बैंक के तत्कालीन क्लर्क रामशशि मंडल, आदेशपाल मदन झा व फील्ड अफसर को आरोपित बनाया गया था। 

यह है मामला

औराई थाना क्षेत्र के गंगुली गांव की सुवंशी देवी ने 14 जनवरी 2004 को बैंक मैनेजर सहित अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इसमें उसने कहा था कि आरोपितों ने फर्जीवाड़ा कर उसकी तस्वीर, अंगूठे के निशान व कागजात का प्रयोग उसके नाम से ऋण की राशि की निकासी कर ली। इसका पता तब चला जब उसे बैंक की ओर से ऋण की राशि जमा करने का नोटिस भेजा गया। उसे अनपढ़ समझ कर उसके साथ धोखाधड़ी की गई। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद भी पुलिस ने मामले को लंबे समय तक दबाए रखा। बाद वरीय पुलिस अधिकारियों के पर्यवेक्षण में चाराकल के नाम पर फर्जीवाड़ा कर ग्रामीणों को 25-25 सौ रुपये ऋण जारी करने का मामला सत्य पाया गया।  

कागज का बंडल थमा दो महिलाओं से 22 हजार की ठगी

कटरा (मुजफ्फरपुर), संस : कटरा स्थित यूनियन बैंक के समीप एक उचक्केने कागज का बंडल थमा कर दो महिलाओं से 22 हजार ठग लिया। पीडि़ता शिशवारा निवासी अमृती देवी और फुलो देवी ने बताया कि वे दोनों यूनियन बैंक के अपने खाते से रुपये की निकासी करने गई थी। निकासी के लिए पर्ची भरने के लिए एक युवक को कहा जिसने पर्ची भरकर रुपये की निकासी में मदद की। राशि निकालने के बाद वे लोग बैंक से बाहर निकलीं तो उक्त युवक उसके पीछे लग गया। बाहर जाने के बाद कागज का बंडल लिफाफे में रखकर बोला कि इसमें सवा लाख रुपयेे हैं। इसे आप रखिए और अपना पैसा दीजिए जिसे बैंक में जमा कर हम आपको वापस लौटा देते हैं। दोनों महिलाएं झांसे में आ गईं और बैंक से निकाले 17 हजार एवं 5 हजार रूपये उसे दे दिया। पैसे लेने के बाद वह युवक वहां से चंपत हो गया। कुछ देर इंतजार के बाद जब महिलाओं ने लिफाफे को खोला तो उसमें सादा कागज का बंडल था। चीखने- चिल्लाने पर लोग जुटे तो ठगी का मामला सामने आया। महिलाओं ने थाने पहुंचकर जानकारी दी। इसके बाद बैंक के सीसी कैमरा फुटेज खंगाला गया जिसमें उस युवक का चेहरा सामने आया। लेकिन, अबतक उसकी पहचान नहीं हो सकी है। महिलाओं के अनुसार उसने सोहागपुर का रहने वाला बताया था। पुलिस जांच में जुटी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.