top menutop menutop menu

बाढ़ प्रभावितों की सूची को लेकर प्रखंड परिसर बना रणक्षेत्र

बाढ़ प्रभावितों की सूची को लेकर प्रखंड परिसर बना रणक्षेत्र
Publish Date:Fri, 14 Aug 2020 02:01 AM (IST) Author: Jagran

मुजफ्फरपुर। मोतीपुर प्रखंड की महमदपुर महमदा पंचायत के बाढ़ प्रभावित लोगों की सूची को अंतिम रूप देने के दौरान प्रखंड कार्यालय परिसर रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। प्रखंड परिसर में ही मुखिया राकेश चंद्र यादव, पूर्व मनोज कुमार सिंह और पूर्व प्रखंड प्रमुख रंगीलाल महतो के गुटों के बीच जमकर लात-घूंसे चले। मोतीपुर पुलिस के पहुंचने पर मामला शात हुआ। थाने में इसकी कोई शिकायत नहीं की गई है। बताया गया कि प्रभावितों की सूची को लेकर मुखिया, पूर्व मुखिया और पूर्व प्रखंड प्रमुख की पंचायत समिति सदस्य बहू में मतभेद था जिसे दूर करने के लिए सीओ ने सभी पक्षों को अंचल कार्यालय बुलाया था। यहां एक ग्रामीण के हंगामा करने के बाद स्थिति तनावपूर्ण हो गई। फिर सभी लोगों को सीओ, बीडीओ व वरीय उप समाहर्ता के समक्ष लाया गया जहा सूची को अंतिम रूप देने पर विचार हुआ। यहा तक मामला शात रहा. पर जैसे ही कार्यालय प्रकोष्ठ से सभी निकले तो प्रमोद कुमार महतो और धर्मेंद्र सहनी तथा दोनों के लोग आपस में भिड़ गए। पुलिस मौके पर पहुंची तो सभी भाग निकले। इधर, सीओ ने बताया कि सूची को लेकर चल रहे गतिरोध को जल्द दूर कर लिया जाएगा। बाढ़ पीड़ितों को राशि भेजने में हो रही धांधली पूर्व मंत्री सह जदयू नेता मनोज कुशवाहा ने बाढ़ राहत राशि पीड़ितों के बैंक खाते में भेजे जाने में हो रही धाधली की शिकायत डीएम से दूरभाष पर की। पूर्व मंत्री ने डीएम को बताया कि कुढ़नी विधान सभा का हर परिवार बाढ़ से पीड़ित है, लेकिन इसकी सूची बनाने में धाधली हो रही है। उन्होंने प्रखंड सह विधान सभा के सभी परिवारों को छह- छह हजार रुपये की राहत राशि देने की माग डीएम से की। पूर्व मंत्री ने बताया कि डीएम ने इसकी जाच नोडल अधिकारी से कराने व दोषी पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

विधायक ने की बाढ़ राहत कार्य की समीक्षा

विधायक महेश्वर प्रसाद यादव ने गायघाट प्रखंड मुख्यालय में बीडीओ व सीओ के साथ बैठक कर बाढ़ राहत कार्य की समीक्षा की। उन्होंने सीओ को निर्देशित करते हुए अविलंब सभी पंचायतों की अनुश्रवण समिति की सूची के अनुसार 6-6हजार की राशि भेजने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि गायघाट विधानसभा क्षेत्र की पूरी 41 पंचायतें पूर्ण बाढ़ग्रस्त घोषित हो चुकी हैं। अगर किसी सूची में त्रुटि हो तो आज ही जनप्रतिनिधियों को बुलाकर सुधार करते हुए राशि निर्गत करें। कहा कि बाढ़ राहत मे कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मौके पर लालबाबू सहनी, प्रभात किरण, राम उद्गार राय ब्यास, बिनोद यादव, राम प्रवेश सहनी, वकील राय, जयराम यादव, रुपेश यादव, राम ललित सिंह, बाबाजी राय, सुरेश राय उप प्रमुख पति अनिल यादव आदि थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.