Bihar Cabinet Expansion 2021: मुजफ्फरपुर के नेताओं के नाम संभावितों की सूची से गायब होने से निराशा

सीएम नीतीश ने जल्‍द ही मंत्र‍िमंडल व‍िस्‍तार के संकेत द‍िए हैं। फाइल फोटो

Bihar Cabinet Expansion 2021 नीतीश सरकार के कैब‍िनेट व‍िस्तार की चर्चा जोरों पर है। इससे मुजफ्फरपुर को भी काफी उम्‍मीदें हैं। लेकिन जिले के एक भी नेता का नाम संभावितों की सूची में नहीं होनेे से लोगों को निराशा हुई है।

Publish Date:Tue, 19 Jan 2021 02:29 PM (IST) Author: Ajit kumar

मुजफ्फरपुर, ऑनलाइन डेस्‍क। खरमास खत्‍म होते ही सूबे में राजनीत‍िक गत‍िव‍िध‍ियां एक बार फ‍िर तेज हो गई हैं। दो माह पुरानी नीतीश सरकार के मंत्र‍िमंडल व‍िस्‍तार की कवायद चल रही है। मुख्‍यमंत्री ने सोमवार की शाम खुद इस बात के संकेत द‍िए हैं क‍ि बहुत जल्‍द कैब‍िनेट का व‍िस्‍तार संभव है। मुजफ्फरपुर को भी इससे उम्मीद है। सब जानना चाह रहे कि इस व‍िस्‍तार में यहां से क‍िन्‍हें मौका म‍िलने जा रहा है। हालांकि संभावितों में नाम नहीं होने से निराशा।

 

ज‍िले में जदयू पर व‍िशेष दबाव

 

राजनी‍त‍िक प्रेक्षकों की द‍िलचस्‍पी इस बात में है क‍ि क्‍या सीएम नीतीश कुमार अपने च‍िर-पर‍िच‍ित अंदाज में सबको चौंकाएंगे और यहां से अपने इकलौते व‍‍िधायक को कैब‍िनेट में स्‍थान देेंगे? क्‍योंक‍ि मुजफ्फरपुर में जदयू का संगठन अपनी लचर अवस्‍था में है। ब‍िहार व‍िधानसभा चुनाव 2015 के दौरान महागठबंधन का ह‍िस्‍सा होने के बाद भी जदयू को एक भी सीट पर जीत हास‍िल नहीं हुुुुई थी। वहीं ब‍िहार व‍िधानसभा चुनाव 2020 में जदयू ने अपने चार उम्‍मीदवारों को मैदान में उतारा था लेक‍िन, सकरा से अशोक चौधरी ही पार्टी की इज्‍जत बचाने में सफल हो सके। हालांक‍ि उनकी जीत को संगठन की जीत से अध‍िक उनकी व्‍यक्‍त‍िगत जीत मानी जा रही है। ऐसे में यह माना जा रहा है क‍ि पार्टी को नए स‍िरे से खड़ा करने के ल‍िए सकरा व‍िधायक को नवाजा जा सकता है। इससे कार्यकर्ताओं में एक बेहतर संदेश जाएगा। लगभग व‍िखड़ चुका संगठन एक बैनर के नीचे फ‍िर से आ सकेगा।

 

भाजपा-वीआइपी व‍िधायकों में क‍िसकी खुलेगी क‍िस्‍मत

मौजूदा नीतीश कैबिनेट में कुल मंत्रियों की बात करें तो उनकी संख्या 13 है। इस हालत में अभी और 23 मंत्रियों के शामिल होने की गुंजाइश है। कहा जा रहा है क‍ि भाजपा कोटे से 12 या 13 मंत्री और इसमें शामिल हो सकते हैं। य‍द‍ि मुजफ्फरपुर भाजपा की बात करें तो यहां के औराई व‍िधायक रामसूरत राय अभी मंत्री हैं। ज‍िले से भाजपा के तीन व‍िधायक हैं। ऐसे में पारू या बरूराज के व‍िधायक को मौका म‍िलेगा या वीआइपी के दो व‍िधायकों में से क‍िसी एक को कैब‍िनेट में शाम‍िल होने का मौका म‍िलेगा। वीआइपी के स‍िंबल से साहेबगंज से चुने गए राजू स‍िंह इससे पहले भाजपा के स‍िंबल पर वहीं से न‍िर्वाच‍ित हो चुके हैं। उनकाेे कैब‍िनेट में शाम‍िल करने की मांग भी उठती रही है। ऐसे में यह देखने वाली बात होगी क‍ि उन्‍हें स्‍थान म‍िल पाता है या नहीं। इस सप्‍ताह के अंत या अगले सप्‍ताह के शुरू में संभाव‍ित मंत्रि‍मंडल व‍िस्‍तार के बारे में यह कहा जा रहा है क‍ि भाजपा ने अपने कोटे के मंत्रियों के बारे में केंद्रीय नेतृत्‍व से चर्चा शुरू कर दी है। वहीं जदयू कोटे के मंत्रियों के नामों पर चर्चा के ल‍िए सोमवार की शाम कर्पूरी भवन में जदयू की बैठक हुई थी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.