Bihar Job News: बिहार में नीति बदलते ही निवेशकों की धमक, रोजगार सृजन की जगी उम्मीद

Bihar Job News अनुसूचित जाति जनजाति पिछड़ा वर्ग के साथ महिलाओं व युवाओं के लिए रोजगार प्रोत्साहन की नीति। फूड प्रोसेसिंग सेपानी प्लास्टिक मुर्गी दाना उद्योग लगाकर रोजगार सृजन। लॉकडाउन में कम हुई परेशानी। उद्योग मंत्री सैयद शहनवाज हुसैन की पहल पर उद्यमी निवेश को आगे आ रहे हैं।

Ajit KumarThu, 05 Aug 2021 12:33 PM (IST)
सूबे के उद्योग मंत्री सैयद शहनवाज हुसैन की पहल पर उद्यमी निवेश को आगे आ रहे हैं। फाइल फोटो

मुजफ्फरपुर, [अमरेंद्र तिवारी]। Bihar Job News: जिले में सरकारी स्तर पर चलने वाले बड़े कल-कारखाने दो दशक में बंद हुए हैैं। इसमें आइडीपीएल, भारत वैगन, मोतीपुर चीनी मिल शामिल है। वहीं, बिहार खादी ग्रामोद्योग संघ मातृ संस्था की इकाई मुजफ्फरपुर जिला खादी ग्रामोद्योग संघ स्तर पर रोजगार की पहल शुरू हुई है। बियाडा परिसर के साथ अलग-अलग जगहों पर उद्योग-धंधे चल रहे हैैं। सूबे के उद्योग मंत्री सैयद शहनवाज हुसैन की पहल पर उद्यमी निवेश को आगे आ रहे हैं। इससे रोजगार नेटवर्क मजबूत होने की उम्मीद जगी है। 

बियाडा परिसर में नई नीति के बाद बढ़ रहे उद्योग

मुजफ्फरपुर जिला खादी ग्रामोद्योग संघ के अध्यक्ष बीरेंद्र कुमार ने बताया कि पिछले तीन सालों से सरसों तेल, साबुन, सत्तू-बेसन उद्योग, मिट्टी के बर्तन निर्माण, जूता-चप्पल निर्माण, मधु प्रसंस्करण व वस्त्र निर्माण की इकाइयां चल रही हैैं। इनमें करीब 600 लोग काम कर रहे हैं। भीमसेरिया एग्रो प्राइवेट लिमिटेड के संचालक श्याम भीमसेरिया ने बताया कि 2013 में इकाई लगाई और 2016 से चावल का उत्पादन कर रहे हैैं। 250 लोगों को रोजगार मिल रहा है। श्यामा एग्रो फूड्स एंड एक्सपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड के संचालक केशवनंदन ने बताया कि 2011 में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जो औद्योगिक नीति लाई उसके बाद से उद्यमी आगे आए हैं। उन्होंने 2013 में इकाई लगाई। 2015 में उत्पादन होने लगा। अभी बियाडा परिसर में 50 के आसपास छोटी-बड़ी फूड प्रोसेसिंग इकाइयां काम कर रही हैैं। राज एग्रोकेम प्रोडक्स प्राइवेट लिमिटेड के संचालक शिवशंकर प्रसाद साहू ने कहा कि 2011 में इकाई लगाई। 2012 से प्रोडक्शन हो रहा है। 300 लोगों को रोजगार दिया है। उत्तर बिहार उद्यमी संघ के अध्यक्ष नीलकमल व मंत्री विक्रम कुमार विक्की ने कहा कि बियाडा में सत्तू-बेसन, प्लास्टिक, मसाला, नूडल्स, बिस्किट, अलमारी, पशु आहार आदि का निर्माण हो रहा है। पूरे परिसर में करीब 300 इकाइयां काम कर रही हैैं। 10 हजार लोगों को रोजगार मिल रहा है। उद्योग विभाग के महाप्रबंधक परिमल सिन्हा ने कहा कि उद्योग के प्रति उद्यमियों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। उद्यमी को जिस स्तर पर सहायता की जरूरत है वह दी जा रही है।

किस योजना से कितनी इकाइयां लगीं

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम

साल-----लक्ष्य----उपलब्धि

2018-19---121--------131

2019-20---155------86

2020--21---88---------92

नई औद्योगिक प्रोत्साहन नीति 2016 के तहत

लक्ष्य--------उपलब्धि

108-------41

मुख्यमंत्री अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग उद्यमी योजना

कोटि------लक्ष्य-----उपलब्धि

एसएसटी---200-------66

ईबीसी----92------34 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.