शराबबंदी कानून को कसौटी पर आज कसेंगे अपर मुख्य सचिव केके पाठक

उत्पाद मद्य निषेध एवं निबंधन विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक शुक्रवार को प्रमंडलीय समीक्षा बैठक करेंगे। प्रमंडलीय आयुक्त के सचिव ने तिरहुत के जोनल आइजी चंपारण क्षेत्र के डीआइजी प्रमंडल के जिलों के डीएम एसएसपी और एसपी को पत्र लिखकर बैठक में शामिल होने का आग्रह किया है।

Ajit KumarFri, 03 Dec 2021 09:30 AM (IST)
उत्पाद, मद्य निषेध एवं निबंधन विभाग के अपर मुख्य सचिव 11 बिंदुओं पर करेंगे प्रमंडलीय समीक्षा।

मुजफ्फरपुर, जासं। राज्य में शराबबंदी कानून को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की 16 नवंबर की समीक्षा बैठक के बाद विभाग की गतिविधि बढ़ गई है। इसी क्रम में उत्पाद, मद्य निषेध एवं निबंधन विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक शुक्रवार को प्रमंडलीय समीक्षा बैठक करेंगे। 11 बिंदुओं पर समीक्षा में प्रमंडल के जिलों में शराबबंदी कानून की स्थिति का मूल्यांकन करेंगे। इस संबंध में प्रमंडलीय आयुक्त के सचिव ने तिरहुत के जोनल आइजी, चंपारण क्षेत्र के डीआइजी, प्रमंडल के जिलों के डीएम, एसएसपी और एसपी को पत्र लिखकर बैठक में शामिल होने का आग्रह किया है। इसके अलावा जिलों के अपर समाहर्ता, एसडीओ, एसडीपीओ, उत्पाद विभाग के पदाधिकारियों को भी बैठक में शामिल होने का निर्देश जारी करने का आग्रह किया है।

इन एजेंडों पर होगी समीक्षा

- मुख्यमंत्री के 16 नवंबर को दिए निर्देश का कितना अनुपालन हुआ।

- इस तिथि के बाद से छापेमारी, गिरफ्तारी एवं शराब जब्त की स्थिति और अधिहरणवाद एवं वाहनों की जब्ती।

- बार्डर चेकपोस्ट पर मानीटङ्क्षरग की व्यवस्था।

- देसी और महुआ शराब से निपटने का क्या प्रबंध किया गया।

-होम डिलीवरी से निपटने के लिए क्या व्यवस्था की गई।

- नदियों में पेट्रोङ्क्षलग की क्या व्यवस्था की गई।

- 2016 से दायर कुल मामलों में ऐसे कितने मामलों में चार्जशीट लंबित है। कितनों को सजा एवं कितने की रिहाई हुई।

- आइजी मद्य निषेध द्वारा उठाए गए मुद्दे।

- शराबबंदी के प्रचार-प्रसार के लिए विद्यालय एवं जीविका समूहों द्वारा कितना प्रचार-प्रसार किया गया।

- काल सेंटर में प्राप्त शिकायत के विरुद्ध कार्रवाई।

- सतत जीविकोपार्जन योजना की प्रगति।  

इनाम का झांसा देकर 40 हजार उड़ाए

जासं, मुजफ्फरपुर : साइबर फ्राड द्वारा इनाम मिलने का झांसा देकर बैंक खाते से 40 हजार रुपये उड़ा लिए गए। मामले में कंपनीबाग योगियामठ के अनुराग गुप्ता ने नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस का कहना है कि मामला दर्ज कर जांच कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। आवेदक ने पुलिस को बताया कि रेडक्रास एसबीआइ में उनका खाता है। बैंक की तरफ से डेबिट कार्ड मिला। इसके दो दिन बाद बैंक के नाम से एक काल आया। इसमें कहा कि आपको इनाम मिला है। इसके लिए एक एप को लोड कर उसको भरना है। उस एप को लोडकर कर उसे भरने के बाद पांच बार में 40 हजार तीन सौ रुपये उड़ा लिए गए। बता दें कि साइबर फ्राड द्वारा तरह-तरह का हथकंडा अपनाकर बैंक खाते से रुपये उड़ाने का खेल चल रहा है, मगर साइबर फ्राड की गिरफ्तारी नहीं हो रही है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.