बेतिया मंडलकारा में बंद कैदी ने फांसी लगाकर दी जान, इस आरोप में वह 9 जुलाई से था बंद

मोतिहारी में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर से विगत 9 जुलाई को बेतिया जेल में आया था।
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 02:17 PM (IST) Author: Ajit Kumar

पश्चिम चंपारण, जेएनएन। बेतिया मंडलकारा में मंगलवार की सुबह 11:30 बजे विचाराधीन कैदी शमशेर अंसारी ने फांसी लगा खुदकुशी कर ली। वह बेतिया शहर के दरगाह मोहल्ले का रहने वाला था। धार्मिक उन्माद फैलाने और तोड़फोड़ के मामले में जेल में बंद था। कोविड - 19 से सुरक्षा को लेकर कैदियों के लिए मोतिहारी में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर से विगत 9 जुलाई को बेतिया जेल में आया था। कैदी के फांसी लगाने की सूचना पर जेल में हड़कंप मच गया। जेल सुपरिटेंडेंट रामाधार सिंह ने बताया कि शमशेर अंसारी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। उसका जेल के अस्पताल वार्ड में इलाज चल रहा था। वह अस्पताल वार्ड के समीप लीची के पेड़ के पास गया और अपनी शर्ट को फांसी का फंदा लगा पेड़ से लटक गया। आनन-फानन में उसे फांसी के फंदे से उतार अस्पताल भेजा गया ,जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। यहां बता दें कि विगत 11 जून को भी शिकारपुर थाना क्षेत्र के पकड़ीढाला निवासी विचाराधीन कैदी कलामुद्दीन ने भी जेल के भीतर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। कलामुद्दीन चोरी के मामले में जेल में बंद था। कलामुद्दीन की मौत के बाद कैदियों ने जेल में जमकर हंगामा किया था।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.