मुजफ्फरपुर सदर अस्पताल में कोरोना काल में बहाल 28 ट्राली मैन व 37 सुरक्षा गार्ड हटाए गए

सिविल सर्जन ने समीक्षा के बाद उठाया कदम मचा हड़कंप स्वास्थ्य प्रबंधक के बारे में मांगी रिपोर्ट। कोरोना वार्ड बंद होने के बाद भी बना रहे थे हाजिरी सीएस ने दी हिदायत नियम विरुद्ध एक भी कर्मी को रखने वाले होंगे जवाबदेह।

Ajit KumarSun, 01 Aug 2021 11:48 AM (IST)
सिविल सर्जन ने कहा कि किसी भी तरह का गैरकानूनी काम परिसर में नहीं होगा।

मुजफ्फरपुर, जागरण संवाददाता। कोरोना काल में बहाल सुरक्षा गार्ड व ट्रालीमैन को तत्काल हटा दिया गया है। सिविल सर्जन ने समीक्षा के बाद यह कदम उठाया है। इससे महकमे हड़कंप मचा है। मरीज नहीं रहने के बावजूद पिछले दो माह से आउटसोर्सिंग से बहाल किए गए करीब एक सौ सुरक्षाकर्मियों और ट्रालीमैन को रखने का मामला सीएस के समक्ष आया तो उन्होंने उपाधीक्षक से रिपोर्ट मांगी। रिपोर्ट आने के बाद सिविल सर्जन ने कमेटी की बैठक की। इसके बाद तत्काल प्रभाव से 28 ट्रालीमैन व 97 सुरक्षा गार्ड को हटाने का आदेश जारी किया।

सदर अस्पताल प्रबंधक के बारे में मांगी पूरी रिपोर्ट

सीएस डा.शर्मा ने सदर अस्पताल उपाधीक्षक से प्रबंधक प्रवीण कुमार के बारे में रिपोर्ट मांगी है। उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि अगर स्वास्थ्य प्रबंधक एंटीजन किट मामले में आरोपी हैं तो वह किस हैसियत से परिसर में आकर काम कर रहे हैं। उन पर कब मुकदमा हुआ, उसके बाद उपाधीक्षक स्तर से किस तरह की कार्रवाई हुई उसकी जानकारी दो दिनों के अंदर देने को कहा गया है। सिविल सर्जन ने कहा कि किसी भी तरह का गैरकानूनी काम परिसर में नहीं होगा। मरीजों के इलाज के लिए रोस्टर व सारी सुविधा दी जाएगी। जानकारी के अनुसार तत्कालीन सिविल सर्जन डा. एसके चौधरी के कार्यकाल में 780 मानव बल हो के साथ ही करीब सौ सुरक्षा गार्ड और ट्रालीमैन की बहाली आउटसोर्सिंग कंपनी के जरिए कर दी गई थी। मानव बल को सरकार के आदेश से पहले ही हटा दिया गया। अब जरूरत से ज्यादा सुरक्षाकर्मियों और ट्रालीमैन को तत्काल प्रभाव से हटाया गया है।

अब गार्ड की हुई ये नई व्यवस्था

- आपातकालीन सेवा, पार्किंग सेवा, एसएनसीयू, ओपीडी, कोविड वैक्सीनेशन, रक्त अधिकोष, केंद्रीय दवा भंडार व द्वितीय अस्पताल गेट, आईसीयू, जिला स्वास्थ्य समिति कार्यालय, सिविल सर्जन कार्यालय, वैक्सीन भंडार, जिला प्रतिरक्षण कार्यालय, सिविल सर्जन आवास, जिला यक्ष्मा कार्यालय, सदर अस्पताल मुख्य द्वार, नशा मुक्ति केंद्र व कंट्रोल रूम पर अब सुरक्षा गार्ड रहेंगे।  

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.