पारू में बाया नदी में आई बाढ़ से ढाई हजार एकड़ जमीन जलमग्न

पारू में बाया नदी में आई बाढ़ के पानी से प्रखंड की ढाई हजार एकड़ जमीन जलमग्न हो गई है। किसान धान रोपाई के लिए बिचड़ा तैयार करके रखे थे लेकिन पहली बार ही आई बाढ़ के पानी से चौर जलमग्न हो गया था।

JagranFri, 27 Aug 2021 03:30 AM (IST)
पारू में बाया नदी में आई बाढ़ से ढाई हजार एकड़ जमीन जलमग्न

मुजफ्फरपुर। पारू में बाया नदी में आई बाढ़ के पानी से प्रखंड की ढाई हजार एकड़ जमीन जलमग्न हो गई है। किसान धान रोपाई के लिए बिचड़ा तैयार करके रखे थे, लेकिन पहली बार ही आई बाढ़ के पानी से चौर जलमग्न हो गया था। इसके बाद भी किसानों को उम्मीद थी कि पानी कम होने पर धान की रोपाई की जाएगी, लेकिन पुन: पानी बढ़ने से हरपुर कपडफोडा गाव की 650, बुढ़ानपुर की 300, विशुनपुर सरैया की 500 व चैनपुर चिउटाहा गाव की करीब 1200 एकड़ जमीन पर तीन से पाच फीट तक पानी ने किसानों के अरमानों पर पानी फेर दिया है।

किसान सत्यनारायण यादव ने बताया कि पहले बाया नदी मे बाढ़ आने पर पानी का फैलाव होता था, लेकिन जब से रेलवे का बाध बना पानी का फैलाव बाधित हो गया है। इससे इस साल ढाई हजार एकड़ से अधिक जमीन जलमग्न हो चुकी है। धान रोपाई नहीं हो सकी है और किसान भुखमरी के शिकार होने को मजबूर हो गए हैं।

भेलाईपुर गाव के सौ घरों में घुसा झाझा का पानी : प्रखंड के भेलाईपुर गाव की महादलित बस्ती के सौ से अधिक घरों में झाझा नदी का पानी घुस गया है। एक ओर पंचायत कोष से निíमत छह सीट वाले शौचालय में ताला लटक रहा है, जिससे लोगों को परेशानी हो रही है। वहीं, चूल्हा-चौका भी बंद हो जाने से बस्ती के लोगों के समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गई है। सामाजिक कार्यकर्ता प्रभू साह ने गुरुवार को गाव पहुंचकर पीड़ित परिवारों के बीच चूरा, गुड़ व नमक का वितरण किया। साथ ही भोजन की व्यवस्था कराने का आश्वासन दिया। पीड़ित वार्ड सदस्य राजकुमारी देवी ने बताया कि अभी तक सरकारी स्तर पर कोई राहत उपलब्ध नहीं कराई गई है।

सरैया पंचायत से 250 घरों में घुसा पानी, सड़क जाम कर किया प्रदर्शन : विशुनपुर केशो उर्फ पंचायत के 250 घरों में बाया नदी का पानी घुसने से लोगों के बीच तबाही मच गई है। आक्रोशित बाढ़ पीड़ितों ने पैगंबरपुर में सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया तथा प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

मालूम हो कि पंचायत के परहिया पैगंबरपुर सरैया गाव के करीब 250 घरों में बाढ़ का पानी घुस गया है। किसी प्रकार की सरकारी सहायता नहीं मिलने व विशुनपुर केशो पंचायत को बाढ़ ग्रस्त घोषित करने के लिए पीड़ितों ने प्रदर्शन किया। पैगंबरपुर परहिया जतकौली मुख्य मार्ग पर यातायात ठप है। तीन फीट पानी मुख्य सड़क पर बह रहा है। बाया नदी के कहर से पूरी पंचायत तबाह है। वहीं लोगों में आक्रोश है। प्रखंड मुख्यालय से सटी पंचायत होने के बाद भी अंचलाधिकारी ने अभी तक भ्रमण नहीं किया है। इससे लोगों में नाराजगी है। प्रदर्शन में सुरेंद्र कुमार उर्फ सूर्या, विजय यादव, जियालाल राय, राम वृक्ष राय, सुनिल साह, वीरेन्द्र साह, चंदेशवर साह, हरेन्द्र राय, वीरेन्द्र राय, बेचू राय, सिकिन्द्र राय आदि थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.