प्रचार तंत्र के जरिये आम लोगों का अधिकार छिनने की हो रही है कोशिश : कन्हैया

मुंगेर। भाकपा के 80 वें स्थापना दिवस पर मुंगेर के टाउन हाल में आम सभा का आयोजन किया गया। आम सभा को संबोधित करते हुए भाकपा नेता कन्हैया ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। कन्हैया ने कहा कि प्रचार तंत्र के जरिये देश के आम लोगों का अधिकार छिनने की कोशिश की जा रही है। देश में सरकार चुनने का अधिकार आम लोगों को है। लेकिन, प्रचार तंत्र के जरिये यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि मोदी के बाद कोई विकल्प नहीं है। यह लोगों के मत के अधिकार को छिनने जैसा है। देश में रोजगार कम होते जा रहा है। रेलवे, बैंक, कल कारखाने, डाक घर आदि को पूंजीपतियों के हाथ सौंपने की साजिश की जा रही है। देश मंदी के दौर से गुजर रहा है। लेकिन, प्रचार तंत्र के जरिये आम लोगों का ध्यान इस ओर से हटाने का प्रयास किया जा रहा है। देश को हिदू मुस्लिम में बांटा जा रहा है। देश की 85 प्रतिशत आबादी को समझाया जा रहा है कि तुम्हें 15 प्रतिशत से खतरा है। यह मात्र भ्रम है। जनता के टैक्स के पैसे से ही प्रचार के जरिये आम लोगों को यह बताया जा रहा है कि मोदी गरीब का बेटा है। लेकिन, आम लोगों को यह समझना होगा कि मोदी गरीब के बेटा थे। आज वह पूंजीपतियों के इशारे पर काम कर रहे हैं। मैं प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं कि अगर सचमुच में चाय बेचते थे, तो उन्हें यह बताना चाहिए कि देश के करोड़ों चाय बेचने वालों के लिए उन्होंने कौन सा कानून बना दिया। जनता से सीधे संवाद कायम करते हुए कन्हैया ने कहा कि छद्म राष्ट्रवाद की आड़ में देश का इतिहास बदलने की कोशिश की जा रही है। सीपीआइ को विकास विरोधी बताया जा रहा है। सीपीआइ का इतिहास देश के लिए मर मिटने का है। बीते पंद्रह वर्ष से राज्य में सीपीआइ सत्ता में नहीं है। ऐसे में बिहार में विकास की गंगा बहनी चाहिए। लेकिन, पटना की सड़कों पर मछली पालन कैसे होने लगा। मुंगेर के आइटीसी में भाजपा यूनियन पर काबिज है। मजदूरों ने बताया कि वर्षों से यहां यूनियन का चुनाव नहीं हो रहा है। इससे स्पष्ट है कि उन्हें लोकतंत्र में विश्वास नहीं है। वोट देने से पहले आपको यह सोचना होगा कि अगर देश में सभी जगह ईबीएम पर कमल का बटन दबाते रहोगे, तो पूरे देश को कीचड़ बना देगा। मुंगेर में सीपीआइ की राज्य इकाई की स्थापना हुई। आज मुंगेर से हमलोग फिर से यह संकल्प लेते हैं कि एक बार फिर संघर्ष के बल पर पूरे बिहार में लाल झंडा को मजबूत करेंगे। सभा को भाकपा के राज्य कमेटी के सचिव कामरेड सत्यनारायण प्रसाद सिंह, कामरेड उषा सहनी, अविनाश कुमार, कामरेड दिलीप कुमार आदि ने भी संबोधित किया।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.